राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम में चुनाव होने है ।  इन पांच राज्यों के चुनाव में बीजेपी के लिए सबसे ज्यादा चुनौती भी मध्य प्रदेश में नजर आ रही है, क्योंकि वो सत्ता में है और बाकी राज्यों में तो पार्टी को सत्ता विरोधी लहर का लाभ मिल सकता है. मध्य प्रदेश की चुनावी कमान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अपने हाथों में ले ली है और तबड़तोड़ दौरे करके माहौल को भाजपामय बनाने में जुट गए है।

read more : Vice President Rajasthan visits: विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज: उपराष्ट्रपति धनखड़ के ताबड़तोड़ राजस्थान दौरों पर CM गहलोत बोले- कुछ दिनों में चुनाव है मेहरबानी करें

विधानसभा चुनाव में बीजेपी के सामने सरकार बचाने की लड़ाई है. लोकसभा में एमपी की 29 सीटों में से 28 सीटों पर बीजेपी का कब्जा है, जिन्हें विधानसभा का चुनाव जीतकर ही बचाए रखा जा सकता है. ऐसे में बीजेपी अपने एकलौते राज्य की सत्ता को बचाए रखने की जद्दोजहद कर रही है. शिवराज सिंह चौहान लोकलुभावने वादे कर रहे हैं, लेकिन हवा का रुख अपनी तरफ नहीं मोड़ पा रहे हैं. ऐसे में अमित शाह और उनकी टीम ने मध्य प्रदेश की चुनावी कमान संभाली है।

भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति (CEC) की बैठक

बीजेपी पार्टी मुख्यालय में हुई भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति (CEC) की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह,बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा,रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, मौजूद थे । बता दे नरेन्द्र सिंह तोमर, कैलाश विजयवर्गीय, ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रह्लाद पटेल संभालेंगे जिम्मेदारी।