भोपाल। BIG NEWS : मध्यप्रदेश में चुनाव का बिगुल बज चूका है, आचार संहिता भी लग चुकी है और 17 नवंबर मतदान होने है। इससे पहले राजनीतिक दलों में आरोप प्रत्यारोप के दौर तेज हो गए हैं। शुक्रवार को चुनावों की घोषणा के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पहली प्रेस कांफ्रेंस लेते हुए कांग्रेस, गांधी परिवार और कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। शिवराज ने गुरुवार को मंडला में प्रियंका गांधी की ओर से की गई घोषणा पर भी तंज कसा है।

 

चौहान ने कहा कि गांधी परिवार ने पहले सबको ठगा था। अब कमलनाथजी गांधी परिवार को ठग रहे हैं। कल जिस तरह से प्रियंका जी से घोषणाएं करवाई गई, मैंने वो वीडियो देखा है, कई घोषणाएं करके बैठ गई, वो बोले एक और करें। न लेना है न देना है तो कुछ भी बोलते हैं।

 

चौहान ने तंज कसते हुए कहा कि मैडम कहती हैं कि मुझे अभी अभी मुझे एक और घोषणा बताई गई है। कक्षा 1 से 12वीं तक स्कूलों की शिक्षा निशुल्क होगी। कमलनाथजी टोकते हुए कहते हैं कि करेक्शन करा रहे थे। दोबारा वे भाषण पढ़ना शुरू करती हैं। कमलाथजी उनसे बुलवाते हैं स्कूली बच्चों को 500 मिलेंगे, 1000 मिलेंगे और 1500 मिलेंगे। हर साल देंगे। इसके बाद सुरजेवाला जाता हैं कि हर साल नहीं हर माह देंगे। फिर मैडम कहती हैं कि इसमें तो हर साल लिखा है। अब आप कल्पना कीजिए कि पहले कुछ लिखते हैं, वो पढ़ने का कहते हैं। कितने गंभीर हैं कि इससे काम नहीं चलेगा, हर साल नहीं तो हर महिने पर आ जाओ। न लेना है न देना है अपने बाप का क्या जाता है।

 

चौहान ने कहा कि वोट के लिए इस तरह से झूठ बुलवाना। पहले भी राहुल बाबा से कहलवा दिया कि 10 दिन में कर्जा माफ, नहीं तो 11वें दिन मुख्यमंत्री बदल देंगे। राहुल गांधी तो कहकर गए कि देखना, उतनी ही करना। लेकिन, जबरदस्ती करवा दी। चौहान ने कहा कि यह कांग्रेस की कंफ्यूज करो और वोट लो। इनका पुराना वचन पत्र देख लें, वचन तो कई थे, लेकिन इन्होंने कहा था कि शालेय स्तर के बच्चों को गणवेष, पाठ्यपुस्तक, अन्य पठन की उच्च कोटी की सामग्री निशुल्क उपलब्ध कराएंगे। यह कहकर मामा जो लेपटॉप दे रहा था, वो लैपटाप देना बंद कर दिया। साइकिलें बंद कर दी। मेधावी योजना ठंडे बस्ते में डाल दी इन्होंने। बच्चों की फीस तक छीन ली, फीस तक नहीं भरवाई। अब कह रहे हैं कि निशुल्क घर देंगे, प्रधानमंत्री मोदीजी ने जो घर भेजे हैं, वो घर लिए नहीं गरीबों के लिए, ले जाओ वापस। स्टेट का जो शेयर होता है 40 फीसदी वो नहीं दिया। मोदीजी के मकान छीनने वाले, बच्चों के लैपटाप और साइकिल छीनने वाले, बच्चों की फीस छीनने वाले फिर ठगने आ गए हैं। ठगने के पहले यह तय भी नहीं कर पाए थे कि महिने का कहना है या साल की कहना है। यह कांग्रेस का झूठ है, लगातार झूठ बुलवा रही है। राहुल गांधीजी से प्रियंका जी से। मगर मध्य प्रदेश की जनता समझदार है वह कांग्रेस और कमलनाथ की झूठी घोषणाओं में आने वाली नहीं है।