जबलपुर में धान खरीदी को लेकर बड़ा फर्जीवाड़ा हुआ है। यहां पर बिना खरीदी केंद्र बनाए हुए ही किसानों के नाम से धान खरीदकर वेयरहॉउस में रख दी गई। मामले पर खाद्य नागरिक आपूर्ति एंव उपभोक्ता सरंक्षण संचालनालय ने 20 अधिकारियों की टीम गठित की है, जो कि ऐसे वेयरहाउस में रखी धान की जांच करेंगे जहां पर कि फर्जीवाड़ा हुआ है।

read more: JABALPUR NEWS: अधारताल में अम्बे फर्नीचर की दूकान में लगी आग,लाखों का सामान जल कर राख

42 वेयरहाउस की जांच कर भोपाल से आई टीम किसानों के कथन ले रही और रिपोर्ट भोपाल भेजेगी। जानकारी के मुताबिक एक दर्जन से अधिक गोदाम में बिना शासन की अनुमति के हजारों क्विंटल धान का स्टाक कर लिया, जिसकी जानकारी जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के पहले से ही थी, लेकिन उनके द्वारा किसी भी तरह की कार्रवाही नहीं की गई। वही अपर कलेक्टर मीशा सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि धान उपार्जन को लेकर कुछ गोदाम वेयरहाउस में फर्जी बड़े की सूचना जिला प्रशासन को मिली थी वही भोपाल के द्वारा भी 20 सदस्यीय टीम का गठन भी मामले को लेकर किया गया है जहां टीम जबलपुर पहुंची है जिनके सहयोग के लिए जिला प्रशासन के राजस्व एवं डिप्टी कलेक्टर रैंक के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं जल्दी मामले में जांच रिपोर्ट पेश कर दी जाएगी