मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में 27 दिसंबर की रात खौफनाक हादसा हुआ। जिले के घासपुरा क्षेत्र के मकान में आग लग गई। यहां अवैध रूप से गैस सिलेंडर भरकर रखे हुए थे। आग लगी तो यहां एक के बाद एक 30 से अधिक धमाके हुए। इन धमाकों के वजह से आसपास के अन्य मकान भी आग की चपेट में आने लगे। इस हादसे की सूचना मिलते ही तत्काल पूरे क्षेत्र की बिजली सप्लाई बंद की गई। जिला प्रशासन ने स्थानीय निवासियों की मदद से आसपास के रहवासियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। इस दौरान खंडवा सहित आसपास के निकायों के फायर फाइटर और ग्रामीण क्षेत्रों के टैंकरों से पानी डालकर आग पर काबू पाया गया।

उसके बाद जिला प्रशासन ने अवैध गोडाउन पर बुलडोजर भी चलाया। हादसे में 7 लोग झुलसे हैं। इनमें से दो की हालत की गंभीर है। गंभीर रूप से दोनों घायलों को इंदौर रिफर किया गया है। आग लगने की सूचना पर अमला जुटा तो लोगों की भीड़ भी जमा हो गई। बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। क्षेत्रीय पार्षद का कहना है कि राजेश पवार नाम के व्यक्ति के घर में यह घटना हुई। यह व्यक्ति डिलीवरी बॉय है और लगभग सभी कंपनियों की गैस की टंकियां सप्लाई करता है।