छतरपुर। जिले में शिक्षा विभाग की अनदेखी के चलते शासकीय प्राथमिक पाठशाला भैंसो का तबेला बनकर रह गया है, कहते हैं पढ़ेगा इंडिया बढ़ेगा इंडिया प्रदेश में स्कूल चले हम जैसे तमाम अभियान संचालित है लेकिन क्या हो जब शासकीय स्कूल में बच्चों के साथ-साथ भैंस बांधना शुरू हो जाए,मामला छतरपुर जिले के राजनगर जनपद शिक्षा केंद्र क्षेत्र के चंद्रनगर संकुल केंद्र अंतर्गत टोरिया आदिवासी पुरवा स्थित प्राथमिक पाठशाला का है ।

read more : Janjgir -Champa News:भारत को विकसित भारत बनाने का संकल्प: शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को घर-घर पहुंचने के लिए जिले में जारी है विकसित भारत संकल्प यात्रा

आपको बता दे जहां बच्चो के खेलने के मैदान से लेकर शाला के आसपास शासकीय भूमि पर अवैध रूप से निर्माण कार्य कराया जा रहा है बिल्डिंग के पास लोगो ने भैंसो का तबेला बना रखा है प्राथमिक शाला में आदिवासी बच्चे पढ़ते हैं लेकिन उनके खेलने का मैदान नहीं है बच्चों का भविष्य सिमट कर रह गया है,पटवारी द्वारा जांच प्रतिवेदन बनाकर बरिष्ट अधिकारियों से शिकायत की गई मामले की गंभीरता को देखते हुए राजनगर एसडीएम प्रखर सिंह बीआरसी अतुल चतुर्वेदी मौके पर पहुंचे और तत्काल अवैध अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए हैं एसडीम ने अतिक्रमण करने वालो को 10 दिन का अल्टीमेटम दिया उन्होंने कहा 10 दिन के अंदर अगर अवैध अतिक्रमण नहीं हटाया जाता है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी !