मोबाइल एप से जनरल टिकट लेने की सुविधा यात्रियों को दी है। यूटीएस आन मोबाइल एप का उपयोग करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले 10 महीनों में 49 लाख से भी अधिक यात्रियों ने अनारक्षित टिकट बुक कराया है।

read more: सीनियर सिटीजंस की हुई बल्ले बल्ले, वित्त मंत्री ने दी बड़ी सौगात, 42.30 लाख रुपये मिलेंगे, जानिए पूरी खबर

अप्रैल 2023 से जनवरी 2024 तक जितने अनारक्षित टिकटों की बुकिंग हुई उनमें से 20 प्रतिशत से अधिक टिकट यूटीएस आन मोबाइल एप के माध्यम से लिए गए। लगभग 49 लाख से अधिक यात्रियों ने एप के जरिए अनारक्षित टिकट लेकर ट्रेन में सफर किया।

एप से टिकट लेने के लिए ये करें

read more: सीनियर सिटीजंस की हुई बल्ले बल्ले, वित्त मंत्री ने दी बड़ी सौगात, 42.30 लाख रुपये मिलेंगे, जानिए पूरी खबर

– गूगल प्ले स्टोर, एप्पल स्टोर से यूटीएस मोबाइल एप डाउनलोड करें तथा रजिस्ट्रेशन के लिए साइन अप करें।

– लागिन आइडी, मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड करें तथा मैसेज के द्वारा प्राप्त चार अंकों के पासवर्ड का उपयोग करें।

– टिकटों के प्रकार यात्रा टिकट, सीजन टिकट, प्लेटफार्म टिकट तथा यात्रियों की संख्या आदि का चयन करें।

– टिकट के भुगतान के लिए क्र-वालेट का उपयोग करें।

– क्र-वालेट को डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआइ जैसे पेटीएम, गूगल-पे, फोन पे आदि या फिर यूटीए काउंटर द्वारा रिचार्ज किया जा सकता है।

– आर वालेट के अलावा डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआइ द्वारा भी भुगतान किया जा सकता है।

नवीनीकरण कराने के लिए यूटीएस मोबाइल एप की सुविधा दी
रेल मंडल के अधिकारियों ने बताया कि एप के माध्यम से पहले स्टेशन से पांच किलोमीटर के दायरे में ही टिकट ले सकते थे। टिकट काउंटरों में लाइन लगाने से निजात दिलाने, शीघ्र टिकट उपलव्ध कराने के उद्देश्य से रेलवे ने घर बैठे टिकट बुकिंग व सीजन टिकट (एमएसटी) जारी व नवीनीकरण कराने के लिए यूटीएस मोबाइल एप की सुविधा दी है। मोबाइल पर इस एप को डाउनलोड कर त्वरित अनारक्षित टिकट, प्लेटफार्म टिकट प्राप्त कर सकते हैं।