अंधविश्वासः जादू-टोना से डरकर लोग नहीं निकलते घर के बाहर, ऐसी है मान्यता

अंबिकापुर। सरगुजा के ग्रामीण इलाकों में दीपावली की रात जादू-टोना के डर से लोग घरों से नहीं निकलते हैं। मान्यता है कि इस दिन जादू टोना करने वालों की शक्ति बढ़ जाती है।

दीपावली की शाम परिवार के लोगों को जादू टोना का असर ना हो, इसलिए घर के सभी दरवाजो में रामरेडी के पत्तों को दरवाजा में लटकाते हैं। लोग मानते हैं कि इसके पत्तों में इतनी शक्ति होती है कि भूत प्रेत घर में प्रवेश नहीं करते हैं।

मान्यता है कि दीपावली की रात टोटका करने वालों की शक्ति बढ़ जाती है और वे रात में गांव में घूमते हैं। वहीं जो आदमी जादू टोना से प्रभावित होता है उसे ठीक करने के लिए बैगा गुनिया अपनी शक्ति से ठीक करते हैं।

यह भी मान्यता है कि जो नये लोग जादू टोना सीखते हैं उन्हें इसी रात सिखाया जाता है और उन्हें इसके बदले अपने किसी प्रिय को ही जादू टोना की शक्ति से बीमार करना पड़ता है।

हमारा उद्देश्य आपको दीपावली की रात आदिवासी इलाकों में चली आ रही इस परम्परा से अवगत कराना है न की जादू टोना को बढ़ावा देना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *