चुनावी ड्यूटी कर काम पर लौटे श्रमिक

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के द्वितीय चरण के मतदान के चलते राजनीतिक पार्टियों और निर्दलीय प्रत्याशियों के प्रचार प्रसार में लोगों की आवश्यकता को देखते हुए दिहाड़ी मजदूरों की डिमांड एकाएक बढ़ गई थी। अतिरिक्त आय के चलते हैं दिहाड़ी मजदूर अपने रोजमर्रा के कार्य को छोड़ राजनीतिक पार्टियों के प्रचार प्रसार में व्यस्त हो गए थे। मजदूरों की कमी के चलते फसल कटाई, निर्माणी कार्य सहित अन्य कार्यों पर रोक लग गया था। चुनाव निपटने के बाद एक बार फिर से पूर्ववत स्थिति हो गई है। शहर से लेकर गांव तक विभिन्न निर्माण कार्यों में और फसल कटाई के कार्यों में मजदूरों की आमद हो जाने से किसानों,  भवन निर्माण व अन्य निर्माण कार्य करा रहे ठेकेदारों और मकान मालिकों को काफी राहत मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *