कांग्रेस का रमन सिंह पर हमला…राजनीतिक विरोध को कुलचने लिया पुलिसिया और प्रशासनिक आतंक का सहारा…झूठे मामले-मुकदमे का जल्द होगा खेल समाप्त

रायपुर। पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद कांग्रेस ने शनिवार को राजीव भवन में पत्रकारवार्ता ली। पत्रकारों को संबोधित करते होते हुए शैलेश नितिन त्रिवेदी, रूचिर गर्ग, डॉ. राकेश गुप्ता एवं किरणमयी नायक ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। कहा कि भाजपा राजनीतिक विरोध को पुलिस के डंडे से निपटाने में लगी है।

भाजपा सारे वही गुण अपना लिए जिसका विरोध करके सत्ता में आए थे। भाजपा के इशारे पर पुलिस ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ एक और मामला दर्ज कर लिया है। इस एफआईआर के बाद यह तय हो गया है कि अपने अंतिम दिनों में भी रमन सरकार तानाशाही और पुलिसिया आतंक का सहारा छोड़ नहीं रही है।

पिछले पंद्रह साल में मुख्यमंत्री रमन सिंह ने लोकतांत्रिक ढंग से राजनीतिक विरोध को लगातार अपराध साबित करने का प्रयास किया है। कांग्रेस ने विपक्षी का दायित्व निभाते हुए सरकार की कमियों, कमजोरियों को उजागर किया।

लेकिन सरकार ने लिया। इससे साबित हो गया कि भाजपा और खासकर रमन सिंह की आस्था लोकतंत्र में नहीं बल्कि तानाशाही में है। नेताओं ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से भूपेश बघेल ने रमन सरकार को चैन से बैठने नहीं दिया। नान घोटाले से लेकर अंतागढ़ में लोकतंत्र चीरहरण तक सरकार के सारे घोटाले उन्होंने ही उजागर किए।

भूपेश बघेल की अगुवाई में ही कांग्रेस ने किसानों की लड़ाई लड़ी और सरकार को 15 क्विंटल धान खरीदने पर मजबूर किया। कांग्रेस के दबाव में ही दो साल बाद रमन सिंह सरकार को बोनस देने का फैसला करना पड़ा। यही वजह है कि रमन सरकार ने लगातार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ षडयंत्रों का सिलसिला चला रखा है।

नेताओं ने कहा कि झूठे मामले मुकदमे का यह खेल अब छत्तीसगढ़ में जल्द ही समाप्त होगा। सारे घपले घोटालों के मामले में रमन सिंह, उनके बेटे अभिषेक सिंह और पूरा कुनबा जेल जाएंगे। साथ ही रमन सरकार के कामों में भागीदारी निभाने वाले अधिकारी भी जेल जाएंगे। जल्दी ही भाजपा सरकार की विदाई हो जाएगी और भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है।

निर्वाचन आयोग कर रही है पक्षपात-किरणमयी नायक
किरणमयी नायक ने कहा कि भूपेश बघेल की अगुवाई में हमने भाजपा सरकार को तानाशाही नहीं करने दी। इसी कारण भाजपा षडयंत्र कर एफआईआर दर्ज करवा रही है। मुख्य निर्वाचन आयोग ने पक्षपात किया है। हमने सभी मामले की शिकायत की लेकर मुख्य निर्वाचन ने कोई भी कार्रवाई नहीं की। ना तो हमें बयान दर्ज कराई गई ना ही कोई केस दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *