सुकमा। डीआरजी और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ में एक पांच लाख के इनामी नक्सली के मारे जाने की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि सुकमा जिले के पुसपाल थाना क्षेत्र अंतर्गत चिंतलनार इलाके में डीआरजी और माओवादिवायांें के बीच फायरिंग हुई, इसमें किसी जवान को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ, लेकिन खुशखबरी यह है कि माओवादियों का एक बड़ा नेता मारा गया है। उसकी पहचान एसीएम पोड़ियम काना उर्फ नागेश के तौर पर होना बताया जा रहा है।
मारे गए नक्सली के संदर्भ में यह जानकारी निकलकर सामने आई है कि वह लंबे अरसे से ओड़िशा-आंध्रा बार्डर पर सक्रिय था। छत्तीसगढ़ के साथ ही ओड़िशा पुलिस के भी यह हिट लिस्ट में था और ओड़िशा सरकार ने इस पर चार लाख का इनाम घोषित कर रखा था। काफी समय से यह सुरक्षा बल के जवानों को चकमा देकर कई गंभीर वारदातों को अंजाम देने के बाद आखिरकार डीआरजी जवानों की गोलियों का शिकार बना। एएसपी नक्सल ऑपरेशन सिद्धार्थ तिवारी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि सर्च पर निकले सभी जवान पूरी तरह से सुरक्षित लौटे हैं।