Al Qaeda : अमेरिका ने बिना धमाके किया ढेर, बाइडन बोले- हमारे लोगों के लिए जो भी खतरा बनेगा, हम उसे नहीं छोड़ेंगे

अमेरिकी सेना( america) ने काबुल में ड्रोन हमला कर वैश्विक आतंकी संगठन अलकायदा के शीर्ष नेता अयमान अल जवाहिरी को मार गिराया। जवाहिरी ने अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के साथ मिलकर अमेरिका( america) पर 11 सितंबर 2001 को भयावह आतंकी हमले (9/11) की साजिश रची थी। अमेरिका ने ओसामा को 2011 में पाकिस्तान में मार गिराया था।

Read more : Firing In America : US पार्क में 4 दिन में दूसरी बार फायरिंग, 2 की मौत

बाइडन ने कहा, दशकों से यह आदमी अमेरिकियों को निशाना बना रहा था। यह दुनियाभर( world) में 2000 बम धमाकों में शामिल था। अमेरिकी राष्ट्रपति ने केन्या और तंजानिया में दूतावासों पर बम विस्फोटों का भी जिक्र किया। अलकायदा के हमलों में सैकड़ों लोग मारे गए थे और हजारों घायल हुए थे।

अमेरिका( america) ने अपनी खतरनाक ‘निंजा मिसाइल’ के नाम से

इस हमले के लिए अमेरिका ने अपनी खतरनाक ‘निंजा मिसाइल’ के नाम से पहचाने जाने वाले हेलफायर आर9एक्स हथियार का इस्तेमाल किया। यह वही हथियार है, जिससे अल-कायदा के वरिष्ठ नेता अबू अल-खैर अल-मसरी को मार दिया गया था।