रायपुर। कोरबा जिले के कटघोरा से आज 7 नए मरीजों का मिलना एक बार फिर राज्य सरकार के लिए चिंता का सबब बन गया है, इसके साथ छत्तीसगढ़ जो कोरोना पाॅजिटिव मुक्त पहला राज्य बनने वाला था, नए 7 मरीजों के साथ ही फिर से देश के अन्य राज्यों की सूची में शामिल हो गया हैं। कल रात तक की स्थिति में एकमात्र कोरोना पाॅजिटिव मरीज वही नाबालिग था, जो तबलीगी जमात में शामिल होकर लौटा था, लेकिन देर रात एक बुजुर्ग के संक्रमित होने की खबर मिली, और अब 5 पुरूष और 2 महिलाओं के साथ 7 नए मरीजों के मिलने के साथ ही यह संख्या एक बार फिर 9 हो गई हैं। जबकि छग में पहले ही 9 मरीजों को संपूर्ण उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था।

सभी अब कटघोरा के
रायपुर एम्स में इन 7 नए मरीजों को भी दाखिल करने की जानकारी सामने आई है। गौर करने वाली बात यह है कि रायपुर एम्स में कोरोना पाॅजिटिव जिन 9 मरीजों का उपचार जारी है, सभी कटघोरा से संबंधित हैं। इन 9 मरीजों की वजह से कटघोरा अब छग का हाॅट स्पाॅट बन गया है। कलेक्टर किरण कौशल ने देर रात ही कटघोरा की सभी सीमाओं को सील करने का निर्देश जारी कर दिया था। अब मामला और भी ज्यादा संवेदनशील हो गया है। बता दें कि देर रात एम्स लाए गए बुजुर्ग के साथ दोपहर बाद जिन मरीजों को कोरोना संक्रमित पाया गया है, वे सभी तबलीगी जमाती उस नाबालिग युवक के संपर्क में आए थे।

सर्वे लगातार जारी
कटघोरा क्षेत्र पूरी तरह से संवेदनशील हो चुका है। बताया जा रहा है कि ये सभी संक्रमित मरीज कटघोरा के पुरानी बस्ती क्षेत्र के हैं। मिली हुई जानकारी के आधार पर प्रशासन ने पूरे इलाके को सील कर दिया है, साथ ही संक्रमित हुए सभी लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों का भी सर्वे शुरू कर दिया गया है। जिस तरह से एक साथ 7 मरीजों की पहचान हुई है, उसे देखते हुए अंदेशा बढ़ गया है।