रायपुर। लॉकडाउन के दूसरे चरण में आशाएं समाज सेवी संस्था ने लगभग 1000 राशन बैग तैयार कर जरूरतमंदों को वितरण करने की तैयारी की है, जिसमें कि 650 राशन बैग आज 17 अप्रैल को जिला प्रशासन को रायपुर कलेक्टर एवं जिला पंचायत सीईओ की मौजूदगी में सौंपा गया। वहीं लॉकडाउन के पहले चरण में आशाएं समाजसेवी संस्था ने 10 दिनों में 5450 लोगों को फूड पैकेट, सैनिटाइजर, साबुन, मास्क एवं 400 बैग सूखा राशन वितरित किया था। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी सभी स्वयं सेवी संस्थाओं की सराहना की थी एवं सभी से आग्रह भी किया था कि जिला प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर अपना नेक काम जारी रखें।
आशाएं की इस मुहिम में रायपुर के गुरप्रीत सलूजा, संदीप माखीजा, परवेज फारूकी, अशोक सुराना, पीयूष भाटिया, सौरभ जैन, उमेर ढेबर, धीरज सेठिया, शौर्यादित्य सिंह, कुँवर प्रवीण सिंह, मोहम्मद जफर, सौरभ अग्रवाल, राहुल गज्जलवार, तरनजीत सिंह होरा, मुकेश मुठरेजा, आदित्य बुधिया, यश टुटेजा, सोमी टुटेजा, नैना होरा, जसलीन होरा, आयुशा राजपाल, अनुश्री टुटेजा, करन राजपाल, रिशभ साहू शामिल हैं।
पूर्व में रायपुर जिला प्रशासन को आशाऐं समाजसेवी संस्था द्वारा 400 किग्रा चावल, 250 किग्रा आटा, 200 किग्रा आलू, 200 किग्रा प्याज, 30 लीटर तेल दिया जा चुका है। आशाएं के उक्त राशन बैग में 5 किलो चावल, 1 किलो आटा, 1ध्2 किलो दाल, 1ध्2 लीटर तेल, 1ध्2 किलो नमक, 1 किलो आलू, 1 किलो प्याज, 2 नग साबुन, पारले बिस्किट रखा गया है।