हर काम के लिए शिक्षा विभाग का बाबू मांगता था पैसे, शिक्षा अधिकारी ने रखा अपना पक्ष, जानिए पूरा मामला

मरवाही।  शिक्षा विभाग के बाबू द्वारा हर काम के बदले पैसे की मांग को लेकर उठे मामले में खंड शिक्षा अधिकारी मरवाही ने अपना पक्ष रखा।जिसमें उन्होंने कहा हमने जांच की जिसमें पहला मामला महेश श्रीवास्तव द्वारा दी गयी स्थानांतरण अर्जी समय निकलने के बाद दी गयी,हमने अर्जी को समन्धित के निवेदन पर आवेदन को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय बिलासपुर को प्रेषित किया गया था।साथ ही नीतू पाठक   के वेतन रोकन के मामले में यही बात कहूंगा अवकाश लेखन में ऋणात्मक अवकाश होने के कारण अवकाश स्वीकृत नहीं किया गया था , फिर भी दिनांक 3/9/ 2019 को संबंधित के द्वारा ग्रीष्मावकाश में कार्य किया गया उक्त अवधि का अवकाश खाते में जोड़ा गया और दिनांक 4/ 9/ 2019 अवकाश स्वीकृत किया गया और वेतन बनाया गया।बाबू अनिल यादव पर काम के बदले पैसे लेने के आरोप पर अनिल यादव ने कहा,पैसे लेने का आरोप निराधार है,आपसी द्वेष से ऐसी बातें की जा रही।

ज्ञात हो कि 11.09.19 को शिच्छक संघ खंड शिच्छा अधिकारी को अपना ज्ञापन सौंपा था ,जिसकी जांच अब खंड शिच्छा अधिकारी पूरी कर चुके हैं जिसमे आरोपित कर्मचारी को निर्दोष पाया गया वहीं शिकायत कर्ता का कहना है कि मैं इस जांच से संतुष्ट नही हु इसकी पुनः जांच हेतु जिला शिच्छा अधिकारी के पास करूँगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *