रायपुर। होली अवकाश के बाद विधानसभा सदन की कार्रवाई पूरे एक भी नहीं चल पाई और 25 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया। हालांकि इसकी मुख्य वजह कोरोना वायरस का कहर है, जो इस वक्त पूरी देश और दुनिया में अपना कहर बरपा रहा है। भारत में भी लगातार संदिग्धों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं दो लोगों की मौत भी हो चुकी है, लिहाजा भूपेश सरकार किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती है। उनके इस मंसूबे को विपक्ष ने अपनी हरकतों से पूरा भी कर दिया। प्रश्नकाल के दौरान कोरोना पर चर्चा को लेकर हुए विरोध के चलते विधानसभा अध्यक्ष ने सीधे तौर पर 25 मार्च तक के लिए विधानसभा की कार्रवाई को स्थगित कर दिया है। विधानसभा की कार्रवाई शुरू होने से पहले 19 मार्च को कैबिनेट की बैठक मुख्यमंत्री निवास में बुलाई गई है, जिसमें उन विधेयकों को अंतिम रूप दिया जाएगा, जिसे सरकार सदन में पेश करने वाली है।
उल्लेखनीय है कि भूपेश सरकार ने कोरोना वायरस के अटैक को देखते हुए प्रदेशभर के सरकारी स्कूलों में 31 मार्च तक अवकाश की घोषणा कर दी है, इसके साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर भी ताला लग गया है। और तो और शासकीय दफ्तरों में बाॅयोमैट्रिक को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। विधानसभा में भी इसका असर देखा जा रहा है। बहरहाल 19 मार्च को मुख्यमंत्री निवास में आयोजित कैबिनेट की बैठक में विभिन्न मसलों में चर्चा तय मानी जा रही है।