रायपुर। छत्तीसगढ़ के लाखों करदाताओं को राज्य सरकार ने बड़ी राहत देने का फैसला किया है। सरकार ने प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में रहने वालों को अगले एक माह तक संपत्ति कर अदा करने न करने की मोहलत दी है। प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ.शिव कुमार डहरिया ने यह जानकारी दी है। कोरोना संकट आने के बाद सरकार ने अप्रैल माह की 30 तारीख तक संपत्तिकर अदा करने में छूट दी थी। लेकिन एक महीने से अधिक लॉकडाउन बढ़ने के बाद सरकार ने संपत्ति कर अदायगी में एक माह यानी मई के पूरे एक महीने की छूट देने का फैसला किया है।

दरअसल प्रदेश में संपत्ति कर अदा करने के लिए 31 मार्च का समय तय था। लेकिन 19 मार्च से राज्य में लॉकडाउन शुरु होने के बाद संपत्ति कर अदा करने में अप्रैल माह की मोहलत दी गई थी। इसी बीच केंद्र सरकार ने दो चरणों में लाकडाउन बढ़ाकर 3 मई तक करने का आदेश दिया है। इधर कोरोना संकट कारण लोगों की आय में कमी हो गई। यही नहीं कई छोटे व्यापारियों-कामगारों को आय व वेतन के लाले पड़ गए हैं। इन हालात में राज्य की भूपेश बघेल सरकार ने राज्य के करदाताओं की परेशानी को महसूस करते हुए एक माह की मोहलत देने का फैसला किया है।