रायपुर। कोरोना वायरस की इस जंग में फंसे जरुरतमंदों तक भोजन, सूखा राशन सहित अन्य जरुरत की सामाग्रियों को उन तक पहुंचाने में छग सिख सेवा संस्थान लगातार प्रयासरत है। वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर प्रशासन भी सामाजिक संगठनों से सहयोग की अपेक्षा में है। कलेक्टर के आह्वान पर आज प्रदेशभर के दर्जनभर गुरुद्धारा प्रबंधन समिति के पदाधिकारियों ने समन्वयक गुरूचरण सिंह होरा व आशीष मिश्रा के नेतृत्व में जरुरतमंदों तक रसद पहुंचाने की रणनीति पर विचार करने एक बैठक बूढ़ापारा स्थित इंडोर स्टेडियम में आयोजित की।

छग सिख सेवा संस्थान की इस बैठक में समाज के वरिष्ठजनों सहित युवा कार्यकर्ता भी शामिल हुए। बता दें कि जिला प्रशासन ने सभी सामाजिक संस्थाओं को अपनी ओर से हर संभव मदद जरुरतमंदों तक पहुंचाने का आग्रह किया है, जिस पर छग सिख सेवा संथान ने अग्रणी भूमिका का निर्वहन करते हुए बैठक कर रणनीति पर विचार किया। इससे पहले यह भ्रम की स्थिति निर्मित हो गई थी कि सामाजिक संस्थाओं को इस तरह के सेवाकार्य के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है, जिससे पर्दा हटाते हुए कलेक्टर ने कहा कि इस कठिन परिस्थिति में सभी के सहयोग की आवश्यकता है, लिहाजा सभी सामाजिक संस्थाएं अपना सहयोग निर्बाध तरीके से देती रहें।

रणनीति पर विचार करने इंडोर स्टेडियम में रखी गई इस बैठक के दौरान सोशल डिस्टेंशिंग का भी पूरा ख्याल रखा गया। बता दें कि लाॅक डाउन की घोषणा के बाद से सिख समाज लगातार सेवा कार्य में जुटा हुआ है और बीते 22 दिनों से निरंतर जरुरतमंदों को भोजन के साथ ही सूखा राशन पहुंचाकर मानव सेवा की मिसाल पेश कर रहा है।