बिलासपुर। कानन पेंडारी के चिड़ियाघर में एक उम्रदराज चीतल की मौत हो गई है। जिसके मद्देनज़र प्रबंधन द्वारा बड़ी लापरवाही का मामला सामने उजागर हुआ है। यहां कोरोना संक्रमण से बचाव के तहत अब तक सेनिटाइजेशन नहीं किया गया है।
चीतल की मौत कोरोना संक्रमण से हुई ये खबर वायरल होने के बाद कानन पेंडारी में हड़कंप मच गया है। इसके अलावा यहां लॉकडाउन के दौरान जानवरों की देखरेख में भी लापरवाही बरती गई है। वहीं यहां के अधिकारियों ने कर्मचारियों के भरोसे ही कानन पेंडारी को छोड़ दिया है।
गौरतलब है कि अमेरिका के प्रसिद्ध ब्रांक्स चिड़ियाघर में मलय प्रजाति की एक बाघिन कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई है। संभवत: उसे चिड़ियाघर के लक्षणमुक्त एक कर्मचारी से संक्रमण हुआ। इस मामले को अमेरिका में किसी जानवर के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का पहला ज्ञात मामला माना जा रहा है। इसके साथ ही मानव से जानवर में इस घातक विषाणु के संक्रमण को लेकर नए प्रश्न उठ खड़े हुए हैं।