रायपुर। सूरजपुर से एक बुजुर्ग के कोरोना पाॅजिटिव होने के महज कुछ ही घंटों बाद 9 और लोगों के पाॅजिटिव होने की खबर पूरे प्रदेश को झकझोर देने वाली थी। ऐसे में प्रदेश के मुखिया के माथे पर बल पड़ना स्वाभाविक था। इसी बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव का लिया हुआ फैसला, उनकी सर्तकता का द्योतक साबित हुआ। रैपिड टेस्ट पर पूरा भरोसा ना जताते हुए उन्होंने बाद के 9 मरीजों का आटी-पीसीआर कराने का निर्णय लिया, जिसका परिणाम सबके सामने है। उन 9 में से केवल 3 मरीज ही वास्तविक कोरोना पाॅजिटिव पाए गए, जबकि 6 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह प्रदेश के लिए सबसे अच्छी खबर है कि एक तरफ जहां दो मरीज और स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं, तो 6 लोगांें की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

सुरजपुर से जब एक साथ 9 लोगों के कोरोना पाॅजिटिव होने की पहली खबर आई थी, उसके बाद ऐसा लगने लगा था कि कटघोरा के बाद अब हाॅट स्पाॅट बनने की तैयारी में सुरजपुर है, जिस पर विराम लग गया हैं।