रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के निराश्रितों, बुजुर्गों, विधवा महिलाओं एवं निःशक्तजन व्यक्तियों के लिए भी बजट में बड़ी घोषणाएं की है। सीएम ने सामाजिक सुरक्षा और कल्याण मद में 352 करोड़ का प्रावधान रखा है। इसके साथ ही सरकार ने सहारा सुखद योजना के लिए 100 करोड़ का प्रावधान किया है।

बजट घोषणा के दौरान सीएम ने कहा कि निराश्रितों, बुजुर्गों, विधवा महिलाओं एवं निःशक्त व्यक्तियों को समय पर सहायता उपलब्ध कराना कल्याणकारी राज्य का प्राथमिक दायित्व है।

इन दायित्वों की निर्बाध पूर्ति के लिए सामाजिक सुरक्षा और कल्याण मद में 352 करोड़, वृद्धावस्था पेंशन योजना में 185 करोड़ और मुख्यमंत्री पेंशन योजना में 150 करोड़ का प्रावधान है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना में 68 करोड़ तथा सुखद सहारा योजना में 100 करोड़ का प्रावधान है।

दिव्यांगजनों के लिए निःशक्तजन पुनर्वास केन्द्र, मादक द्रव्यों एवं पदार्थों की रोकथाम एवं नशामुक्ति केन्द्र का संचालन तथा तृतीय लिंग समुदाय से सबंधित योजनाओं के लिए 5 करोड़ 30 लाख का प्रावधान है।

 
असंगठित श्रमिक सुरक्षा एवं कल्याण मण्डल के लिए 38 करोड़ 50 लाख का प्रावधान है। ठेका मजदूर, घरलेू कामकाजी महिला एवं हम्माल कल्याण मण्डल के लिए 15 करोड़ का प्रावधान है।