शराब तस्करी में गिरफ्तार आरोपी कांग्रेस नेता राहुल सिंह

मुंगेली। देश के प्रधानमंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री सहित पूरा प्रशासन इस कोशिश में लगा हुआ है कि किसी तरह से भारत कोरोना मुक्त हो जाए, देश की जनता एक बार फिर खुली हवा में सांस ले सके, लेकिन कुछ लोगों को अपने स्वार्थ की पड़ी हुई है। निजी स्वार्थ के चलते लोग ना केवल नियमों की अवहेलना कर रहे हैं, बल्कि इस भयावह बीमारी को न्यौता देने पर तुले हुए हैं। पूरा मामला मुंगेली जिले का है, जहां के जिला युंका अध्यक्ष राहुल सिंह को शराब तस्करी के मामले में रंगे हाथों दबोचा गया है। वहीं इस मामले में मुंगेली जिले में पदस्थ तीन आरक्षकों की भी संलिप्तता सामने आई है। इन चारों से 7 पेटी अंग्रेजी शराब जप्त किया गया है, जिसकी कीमत करीब 50 हजार रुपए बताई जा रही है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर डीएसपी लोरमी और खुड़िया चैकी प्रभारी टीम के साथ उनका इंतजार कर रहे थे। खबर थी कि एक बोलेरो में शराब की तस्करी हो रही है। बताया गया कि औरापानी के महुआमाचा में मौजुद पुलिस टीम की नजर एक बोलरो पर पड़ी जिसे रोककर तलाशी ली गई। इस वाहन में मुंगेली के तीन आरक्षक और युवक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल सिंह मौजुद थे। वाहन के पिछले हिस्से में करीब पचास हजार की शराब 7 पेटी में भरी पड़ी थी।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल सिंह के साथ ही ताल्लुक एक रसूखदार परिवार से होने की वजह से पुलिस पर मामला रफा-दफा करने का दबाव बन रहा था, लेकिन आईजी दीपांशु काबरा के सख्त निर्देश के बाद आखिरकार कार्रवाई को अंजाम दिया गया और राहुल सिंह सहित तीनों आरक्षकों के खिलाफ शराब तस्करी का अपराध दर्ज किया गया। मुंगेली एसपी डी श्रवण के मुताबिक मामले में गिरफ्तार पुलिसकर्मियों में पवन गन्धर्व औऱ युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष राहुल सिंह है। जबकि दो पुलिसकर्मी लोकेश सिंह राजपूत औऱ राजेन्द्र यादव  मौके से फरार हो गए। दोनों फरार पुलिसकर्मियों की पतासाजी की जा रही है. मामले में एक अन्य आरोपी वाहन चालक राजेंद्र साहू को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी 5 आरोपियों के खिलाफ धारा 188 औऱ 59(क) आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।