मुद्रा योजना के रुपयों से पकौड़े के स्टॉल भी नहीं लगेंगे : कांग्रेस

रायपुर। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में राज्य के बेरोजगारों को लाभ नहीं मिलने का आरोप कांग्रेस ने लगाया प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर कहा कि  भाजपा की सरकार नौजवानों से धोखाधड़ी की गुनेहगार है एनएसएसओ की रिपोर्ट मुद्रा योजना की विफलता बता रही है। देश में बेरोजगारी के आंकड़े 45 साल के सर्वोच्च स्तर पर 6.1 फीसदी तक पहुंच गया है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना रोजगार देने में असफल साबित हुआ है।

मुद्रा योजना के तहत बैंको ने बेरोजगारों को उनके मांग के अनुसार ऋण सहायता नहीं दी बल्कि खानापूर्ति के लिये बैंको ने अपने से सहुलियत के हिसाब से आवेदनकर्ताओं को लोन दिया, जिसके कारण बेरोजगार कर्जदार तो हो गये पर रोजगार शुरू नहीं कर पाये। मोदी भाजपा ने लोकसभा चुनाव के दौरान मुद्रा योजना के माध्यम से 30 करोड़ को लाभ मिलने का दावा कर जनता को भरमाने का काम किया था जो हवा हवाई निकली। मुद्रा योजना के तहत देश भर में 7.3 लाख करोड़ रूपये की 15.56 करोड़ को लोन दिया गया। छत्तीसगढ़ के 46 प्रतिशत बेरोजगारों के आवेदन बैंको ने निरस्त कर दिया और जिनकी आवेदन स्वीकृत हुई भी है। उन हितग्रहियों को मांग के अनुसार ऋण नही दिया गया। मुद्रा योजना में दी गई राशि औसतन प्रत्येक हितग्रहियों को 23 हजार मिल रहा है। 23 हजार रुपये में पकोडे़ का स्टाल लगाना भी संभव नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *