रायपुर. रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल पर विदेश से लौटने वाले लोगों के कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की व्यवस्था को और पुख्ता किया जाएगा. विदेश यात्रा से लौटने वाले व्यक्तियों द्वारा सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरने और उनकी जांच के लिए एयरपोर्ट अधिकारियों से बेहतर समन्वय बनाया जाएगा. स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह ने सोमवार को माना स्थित आइसोलेशन सेंटर में छत्तीसगढ़ राज्य स्तरीय कंट्रोल एंड कमांड सेंटर एवं COVID-19 के लिए गठित राज्य स्तरीय कोर कमेटी की बैठक में रायपुर की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग व्यवस्था सुदृढ़ करने के निर्देश दिए. उन्होंने प्रदेश में कोरोना वायरस की जांच और इलाज के इंतजामों की भी समीक्षा की.

स्वास्थ्य सचिव ने बैठक में जानकारी दी कि जगदलपुर, रायगढ़ और रायपुर में कोरोना वायरस की जांच के लिए लैब स्थापित करने के लिए भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव को पत्र लिखकर अनुरोध किया जाएगा. प्रदेश के मेडीसिन और एनेस्थेशिया विशेषज्ञों को चिन्हांकित कर वेंटिलेटर के उपयोग पर मेडिकल स्टॉफ के लिए विशेष प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा. सामुदायिक सर्विलेंस के लिए जन सामान्य को जागरूक करने के साथ ही होम आइसोलेशन गाइडलाइन को भी अपडेट करने पर चर्चा की गई.

बैठक में बताया गया कि माना में 60 बिस्तरों वाले आइसोलेटेड अस्पताल की व्यवस्था है. इसमें छह वेंटिलेटर्स की भी सुविधा है. यहां काम करने के लिए 70 मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षण दिया गया है. विदेश से यात्रा करके आए ऐसे लोग जो संक्रमित नहीं है, लेकिन संदिग्ध सूची में हैं, उनके लिए कॉल ऑन टाइम (स्वस्थ व्यक्ति को रखने की व्यवस्था) की व्यवस्था निमोरा में की गई है. यहां निःशुल्क आवास और भोजन व्यवस्था के साथ सभी चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध है. बैठक में संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और संचालक, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित कई विभागीय अधिकारी मौजूद थे.