रायपुर। इस समय देश कोरोना महामारी के भीषण दौर से गुजर रहा है। कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में लाॅक डाउन की घोषणा की है। राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए जरूरतमंदों की सहायता के लिए हर संभव मदद की व्यवस्था की है। इसके साथ ही उन्होंने सामाजिक संगठनों से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा सभी जरूरतमंदों की मदद करें, ताकि इस विषम परिस्थिति से उबरा जा सके।

इसी कड़ी में आशाऐं समाजसेवी संस्था के सदस्य जिनकी टीम में लगभग 150-200 युवा सदस्य शामिल हैं, इन्होंने अपनी पाॅकेट मनी को सेवाकार्य में लगा दिया है। इस टीम में गुरप्रीत सलूजा, धीरज सेठिया, आदर्श मुंदरा, मोहम्मद जफर, पीयूष भाटिया, सौरभ अग्रवाल, सौरभ जैन, राहुल गज्जलवार, कारन राजपाल, शादाब अली, रिशब साहू, दीपक लोढ़ा, शौर्यादित्य सिंह, आदित्य बुधिया, परवेज फारूकी, बिट्टू भल्ला, संदीप मखीजा, पवन कुमार है। पूरे टीम के सदस्यों द्वारा अपने बचत किये गये रूपयों से प्रतिदिन लगभग 500 लोगों को भोजन एवं जरूरत की वस्तुएं उपलब्ध करायी जा रही है। आशाऐं समाजसेवी संस्था के सदस्यों द्वारा लाॅक डाउन के दौरान रायपुर जिले के अलग – अलग क्षेत्रों में निवासरत मजदूर, गरीब परिवार, जिले के बार्डर में फंसे लोग तथा जरूरतमंद लोगों को भोजन, कच्चा राशन, मास्क, सेनेटाईजर, कपड़े, साबुन एवं जरूरतमंदों के हिसाब से सामाग्री उपलब्ध करायी जा रही है। इस सेवा संस्थान द्वारा दिनांक 29.03.2020 से आज दिनांक 07.04.2020 तक 10 दिन में कुल 5450 पैकेट भोजन एवं जरूरतमंद 400 परिवार को राशन का सामान वितरित किया गया है।

इसके अतिरिक्त आशाएं सेवा संस्थान की पूरी टीम द्वारा जिला प्रशासन को चावल, दाल, आलू जैसे रोजमर्रा की कई अनेक दैनिक राशन सामाग्रियां भी उपलब्ध करायी गयी है, ताकि जिला प्रशासन द्वारा जरूरतमंद व्यक्तियों तक राशन की वस्तुएं पहुंचायी जा सके। जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा आशाएं सेवा संस्थान की पूरी टीम के सदस्यों की सराहना की गई।