रायपुर। 6 एकड़ जमीन पर बने नालंदा परिसर को लेकर अब जांच की मांग उठी है। आर टी आई कार्यकर्ता संजीव अग्रवाल ने नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया को बिना नक्शे के हुए अवैधानिक निर्माण की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की बात कही है।

बता दें कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत डी एम एफ फंड से 16 करोड़ रुपए की लागत से इसे बनाया गया था। जिसका उद्धाटन पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किया था। कांग्रेस नेता संजीव अग्रवाल का कहना है, कि आर टी आई से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस निर्माण के कोई नक्शा ही पास नही किया गया है। बिना नक्शे के पास कराए करोड़ों के इस भवन का निर्माण अवैधानिक रूप से कर दिया गया है।

इस परिसर के निर्माण की पूरी जानकारी आर टी आई के तहत जब रायपुर नगर निगम से मांगी गयी तब उसके जवाब में रायपुर नगर निगम ने कहा कि यह परिसर स्मार्ट सिटी के अंतर्गत आता है। इसलिए इसकी जानकारी स्मार्ट सिटी के कार्यालय से ही मिलेगी। लेकिन जब स्मार्ट सिटी कार्यालय की ओर से जानकारी आई तो वो चौंकाने वाली थी, क्योंकि उनके मुताबिक इस बिल्डिंग का नक्शा तो नगर निगम से पास कराया ही नहीं गया था। यही नहीं इसी परिसर में कुछ दुकानों का भी निर्माण किया गया था।