दुर्ग अधिवक्ता संघ ने रखी मांग, जल्द हो पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त

दुर्ग अधिवक्ता संघ ने कलेक्ट्रेट परिसर के पार्किंग व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग की । अधिवक्ता संघ का कहना है कि जिला न्यायालय दुर्ग मे 50 न्यायधीशगन एवं लगभग 2800 सौ पंजीकृत अधिवक्ता तथा न्यायिक कर्मचारी का रोजाना आवाजाही होता है। जो कि बाइक एवं कार के माध्यम से सफर तय कर कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचते हैं। किंतु न्यायालय दुर्ग मे उचित पार्किंग व्यवस्था नहीं होने के कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही बरसात के मौसम में स्थिति और भी अत्यंत खराब हो जाती है।

 

दुर्ग अधिवक्ता संघ की अध्यक्ष नीता जैन ने कहा कि जिला न्यायालय दुर्ग के तहत लगभग 2800 पंजीकृत अधिवक्ता हैं जो प्रतिदिन अपना न्यायालयीन कार्य करते हैं । ये अधिवक्तागण एवं  न्यायिक कर्मचारी लगभग अपने बाईक एवं कार द्वारा आते हैं l साथ ही 50 न्यायाधीशगण चार पहिया वाहनों के माध्यम से प्रतिदिन अपना कार्य निर्वहन करते हैं। इसके साथ ही साथ प्रतिदिन न्यूनतम 500 मुवक्किल कार्य के लिये अनिर्वाय रूप से आते हैं l आगे नीता जैन ने कहा की लगभग दो हजार बाईक एवं 300 कारों की पार्किंग जिला न्यायालय के अंतर्गत होती हैं, किन्तु पार्किग की अत्यंत खराब व्यवस्था के कारण न्यायाधीशगणों को छोड़कर सभी लोगों को प्रतिदिन पार्किंग हेतु अत्यंत कठिनाई का सामना करना पड़ता हैं एवं गलत पार्किंग भी करनीपड़ती हैं l यह स्थिति न्यायिक प्रशासन द्वारा उचित व्यवस्था न दिये जाने के कारण कायम हैं। इस संबंध में अधिवक्तागणों एवं संघ के पदाधिकारियों द्वारा अनेकों बार ज्ञापन एवं प्रत्यक्ष रूप से भीअवगत कराकर अनुरोध किया गया किन्तु इस दिशा में किसी भी प्रकार कोई अपेक्षित कार्य अब तक नहीं हुआ है।