छत्तीसगढ़ में कटघोरा इन दिनों हाॅट स्पाॅट बना हुआ है। लिहाजा कटघोरा में दाखिल होना या फिर यहां से आगामी आदेश तक निकलने की इजाजत नहीं है। इसी बीच खबर सामने आई है कि सरगुजा जिले के रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के दर्रीडीह का युवक कटघोरा से होकर लौटा है। इसकी सूचना तत्काल स्वास्थ्य विभाग को दी गई, जिसके बाद युवक को तत्काल होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है, वहीं उसने इस दौरान जिन लोगों से मुलाकात की है, सभी को सूचीबद्ध किया गया है और उन्हें भी आइसोलेट कर दिया गया है। इस मूवमेंट को लेकर पूरे सरगुजा में हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई है, हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि युवक में कोविड-19 को लेकर किसी तरह के लक्षण नहीं पाए गए हैं, लेकिन ऐहतियातन उसे क्वारेंटाइन किया गया है।

कोरोना वायरस की दहशत इस कदर है कि लोग जरा भी चूक नहीं चाहते। इससे देश और दुनिया में लगातार हो रही मौतों ने हर किसी को सकते में डाल रखा है, लिहाजा लोग बेहद सूझबूझ के साथ, केंद्रीय दिशा-निर्देशों के अनुरूप व्यवहार करने में लगे हुए हैं। लेकिन कुछ लोगा अपनी मनमानी से बाज नहीं आते। सरगुजा में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां एक युवक तमाम निर्देशों को दरकिनार कर, लाॅक डाउन को तोेड़कर राज्य के हाॅट स्पाॅट कटघोरा गया था। बाइक से कटघोरा में एक शख्स को छोड़कर जब वह वापस गांव लौटा, तो ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। इसके तत्काल बाद स्वास्थ्य विभाग ने उस युवक को क्वारेंटाइन कर दिया और उसका सेंपल जांच में लिया। प्राथमिक लक्षण भले ही कोरोना से संबंधित नहीं मिले हैं, लेकिन ऐहतियात के तौर पर उसे होम क्वारेंटाइन में रहने कहा गया है, वहीं जिन लोगों से उसने मुलाकात की है, उन्हें भी आईसोलेट कर दिया गया है।

कटघोरा यदि आज की स्थिति में हाॅट स्पाॅट बना है, तो उसके पीछे भी कारण एकमात्र युवक ही था। जिसकी वजह से कटघोरा में अब तक 23 लोग कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं। सिलसिला अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा है, ऐसे में यदि कोई कटघोरा से होकर निकला है, तो ऐहतियात काफी ज्यादा जरूरी है, अन्यथा सरगुजा में भी संक्रमण के खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता।

https://www.youtube.com/watch?v=TdvFML4K9fQ
डाॅ. अमीन फिरदौसी, मेडिकल काॅलेज, अंबिकापुर