जांजगीर- चांपा. प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों कि संख्या को लेकर राज्य सरकार सख्त हो गई है. राज्य सरकार और केंद्र सरकार का आदेश है कोई भी लॉक डाउन के  नियम को नजरअंदाज करते दिखे उस पर सख्त करवाई कि जाए. इसी कड़ी में नैला के चार लोगों  के खिलाफ धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इसी बीच छत्तीसगढ़ अंजुमन कमेटी ने मरकज में शामिल होकर छत्तीसगढ़ आए जमातियों के लिए आदेश जारी किया है। कमेटी ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि जमाती और बाहर से आए लोग खुद सामने आकर प्रशासन को जानकारी दें। वहीं, कमेटी ने यह भी मांग की है कि जानकारी छिपाने वालों के खिलाफ राष्ट्रदोह का ममाला दर्ज किया जाए।

नैला के चार लोगों के खिलफ  संक्रमण, फ़ैलाने, जानकारी छुपाने और पुलिस प्रशासन को गुमराह करने पर कार्रवाई कि गई है. आरोप है कि ये लोग बिना अनुमति के 30 मार्च को कटघोरा गए थे। जांच के लिए दो लोगों का सैंपल लिया गया है वहीं आस-पास के 600 घरों में सर्वे किया गया है।
 

ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ में एक साथ  कोरोना के  8 मरीज मिलने से मामला और भी गंभीर हो  गया है.  ये सारे मरीज कोरबा के है. हाइकोर्ट ने  कोरबा में तबलीगी  जमात के 52 लोगों को खोज कर जांच करने उन पर कर्रवाई करने के लिए  आदेश जारी किया है .हाइकोर्ट के आदेश के बाद पुलिस प्रशासन महामारी नियम  को तोड़ने वालों के खिलाफ और भी सख्त हो गई है.

कोरबा के कटघोरा में 8 नए मरीज मिलने के बाद एक बार फिर प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 9 हो गई है। इसके साथ ही प्रदेश में कुल कोविड 19 पॉजिटिव मरीजों की संख्या 18 हो गई है, जिसमें से 9 लोगों को रिकवरी कर अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। फिलहाल 9 मरीजों का उपचार जारी है।