रायपुर। कोरबा जिले के कटघोरा में एकाएक सामने आए 8 नए कोरोना पाॅजिटिव मरीज ने शासन-प्रशासन को सोचने पर मजबूर कर दिया है। प्रदेश की राजधानी में ढ़ील देने की वजह से सोशल डिस्टेंशिंग और लाॅक डाउन पूरी तरह से धराशायी हो गया था, जिस पर ध्यान देते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी ने सख्त आदेश जारी किया है, इसके बाद राजधानी पुलिस ने एक बार सख्त रवैया अख्तियार कर लिया है। राजधानी में पुलिस ने फ्लैग मार्च कर यह संकेत दे दिया है कि निर्देशों का उल्लंघन करना हर किसी के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है, लिहाजा लोग अपने घरों में बने रहें और खुद के साथ परिवार और समाज को सुरक्षित रखने में शासन-प्रशासन को सहयोग करते रहें।

डीजीपी का यह निर्देश केवल राजधानी ही नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश के लिए है। फिलहाल राजधानी में सख्ती शुरू हो चुकी है और अनावश्यक घुमने वालों के खिलाफ सीधे तौर पर अपराध दर्ज किए जाने का फरमान जारी कर दिया गया है। वर्तमान हालात को देखते हुए इसकी आवश्यकता महसूस की गई, जिसके चलते आदेश पर तत्काल प्रभाव से अमल शुरू कर दिया गया है। राजधानी के हर इलाके में चप्पे-चप्पे पर पुलिस जवानों को तैनात किया गया है, साथ ही अधिकारियों को भी लगातार पेट्रोलिंग कर मुआयना करने के लिए कहा गया है।

अपील
कोविड-19 एक भयावह संक्रमण है, जो अभी तक लाइलाज है। एक छोटी सी जिद, छोटी सी चूक किसी भी व्यक्ति या पूरे परिवार को अपने चपेट में ले सकती है और इसके लगातार गंभीर परिणाम सामने आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ इस मामले में अभी तक बेहद सौभाग्यशाली है, कि यहां पर अभी तक कोई भी संक्रमित हमसे दूर नहीं हुआ है। लिहाजा जरूरी है कि लाॅकडाउन के नियमों का सख्ती से पालन करें, सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते रहें और प्रत्येक निर्देशों का अक्षरशः पालन करते रहें, इससे आप स्वयं, अपने परिवार, समाज और प्रदेश को बेहतर दिशा प्रदान कर सकते हैं। दिन-रात चैकसी करने वाली पुलिस आपके हित के लिए तैनात है, उनका सम्मान करें।