रायपुर. सोशल मीडिया में पोल्ट्री फार्म से करोना वायर फैलने की अफवाह जोरो से चल रही है जिसे लेकर संचालक पशु चिकत्सा ने अफवाहों को ध्यान नहीं देने की बात कही है. डब्ल्यू.एच.ओ ने भी चिकन में करोना नहीं होने की पुष्टि की है. चिकन के मध्यम से करोना वायरस के फैलने का कोई वैज्ञानिक आधार भी नहीं है, जिसकी पुष्टि भारत सरकार ने भी की है करोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के छूने या सम्पर्क में आने से होता है .

पोल्ट्री (चिकन) के माध्यम से फैलने की अफवाह पूर्णतः निराधार है, जिसकी पुष्टि भारत सरकार व डब्ल्यू.एच.ओ. ने भी की है। पोल्ट्री उत्पाद (चिकन एवं अण्डे), मटन उच्च प्रोटीन व अन्य पोषक तत्वों से भरपूर है एवं समाज में कुपोषण दूर करने में अहम भूमिका निभाते हैं। अतः उपभोक्ता इन्हें स्वच्छता का ध्यान रखते हुए बिना किसी भय के सेवन कर सकते हैं।