घमासान नहीं मचेगा तो जीत की संभावना कैसे बनेगी….? कोरबा प्रवास के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन ने भूपेश सरकार पर मढ़े कई आरोप…. जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर……..

रायपुर/कोरबा। नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी के भीतर घमासान और अंतर्कलह के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने सपाट जवाब दिया कि घमासान नहीं मचेगा तो जीत की संभावना कैसे बनेगी? उन्होंने कहा कि प्रत्याशियों की चयन प्रक्रिया जारी है, प्रदेश के बड़े नेता इस काम में लगे हुए हैं, एक साथ बड़ी संख्या में प्रत्याशियों का चुनाव करना है। कोशिश की जा रही है कि विवाद कम से कम हो। डाॅ. रमन ने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता को संतुष्ट नहीं किया जा सकता, लेकिन समर्थन प्राप्त करने की कवायद जारी है, ताकि अच्छे और योग्य प्रत्याशियों का चयन हो सके।
पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को सालभर पूरा हो चुका है। उन्होंने जो वायदे किए और जिन वायदों के दम पर सत्ता हासिल की, उनमें से कोई भी वायदा पूरा नहीं हो पाया है। प्रदेश की जनता समझ चुकी है और उनका मन बदला हुआ है, इस दृष्टिकोण से प्रत्याशियों का चयन किया जा रहा है, जो जनता से किए वायदों को पूरा कर पाने में सक्षम हो। क्योंकि प्रदेश का अधिकांश काम नगरीय सत्ता पर आधारित होता है, बुनियादी जरूरतों को नगरीय निकायों के माध्यम से ही पूरा कराया जाता है।
पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश की भूपेश सरकार एक ढेले का भी काम नहीं कर पा रही है, ऐसे में फिलहाल प्रदेश की जनता की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए नगरीय निकायों में भाजपा की सत्ता को काबिज होना आवश्यक हो गया है, ताकि आने वाले चार सालों तक प्रदेश की जनता की बुनियादी जरूरतों को पूरा किया जा सके।
धान खरीदी और बोनस के मामले पर भी डाॅ. रमन सिंह ने भूपेश सरकार को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस ने 2500 रूपए समर्थन मूल्य देने का वायदाकर सत्ता हासिल की। आज धान खरीदी का समय आया, तो केंद्र सरकार पर आरोप मढ़कर खुद को बचाने और प्रदेश के किसानों को डूबोने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि दो साल का बोनस दिए जाने का भी वायदा कांग्रेस ने किया था, लेकिन उसे भी बिसरा दिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह का कहना है कि भूपेश सरकार पूरी तरह से असफल साबित हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *