रायपुर। कोरोना वायरस को प्रभावहीन करने के लिए देशभर में लाॅकडाउन जारी हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसकी घोषणा मंगलवार रात को कर दी थी, जो प्रभावशील हो चुका है और आगामी 14 अप्रैल तक हालात ऐसे ही रहेंगे। पीएम मोदी के निर्देश के चलते राज्य में भी इसके परिपालन की जिम्मेदारी भूपेश सरकार की है, जिसके चलते प्रदेशभर में लाॅक डाउन को शत-प्रतिशत प्रभावशील कर दिया गया है। हालात के मद्देनजर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्यभर की जनता से अपील की है, इस वक्त प्रदेश की जनता इन निर्देशों का पालन करते रहें और सरकार का सहयोग करें। लोग घरों पर रहें, अत्यावश्यक नहीं होने पर निकलने की कोशिश न करें। उन्होंने राज्य की जनता को कुछ इस तरह से संबोधित किया है-

प्रिय भाइयों और बहनों,
कोरोना से बचने के लिए घरों में रहने की हमारी अपील मानने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद। अभी हमें 21 दिन और लाॅक डाउन में रहना है। ऐसी स्थिति में सभी के लिए जरूरत के सामानों की व्यवस्था युद्ध स्तर पर की जा जा रही है। राशन दुकानों से 2 माह के राशन की व्यवस्था कर दी गई है। साथ ही रोज के उपयोग की सभी चीजें तथ दवाएं बाजार में आसानी से मिले इसकी भी पूरी व्यव स्था कर दी गई है। लेकिन सबसे ज्यादा चिंता उन लोगों की करना है जो रोजी, मजदूरी से ही जीवन यापन करते है। रिक्शे चलाने वाले, ठेले वाले, फेरी वाले, फुटपाथो पर छोटा-छोटा व्यापार करने वाले लोगों को खाने-पीने तथा जीवन यापन का जरूरी सामान उपलब्ध कराना हमारी बड़ी जिम्मेदारी है। हमने यह निर्णय लिया है कि राशन दुकानों से दो माह का सामान देने की व्यवस्था के अलावा 1 हजार रू. का जरूरी सामान जैसे - एक माह का राशन मुफ्त चावल, शक्कर और नमक पीडीएस दुकानों से देने के अलावा दाल-5 किलो, आलू-5 किलो, प्याज-2 किलो, तेल- 2 लीटर, आधा किलो चाय पत्ती, हल्दी- 200 ग्राम, मिर्च 200 ग्राम, नहाने का साबुन 4 नग, वाशिंग पाउडर 1 किलो, पोहा- 2 किलो ऐसे लोगों को को घर पहुंचाकर दिया जाएगा। जिन लोगों के घर के पते स्थानीय प्रशासन के पास उपलब्ध है। उन्हें घर में यह सारे सामान मुहैया कराने की व्यवस्था विभिन्न शासकीय विभागों के समन्वय से की जा रही है। लेकिन जो लोग बेघर है उनके लिए भोजन की व्यवस्था ग्राम पंचायत, नगरीय निकाय, गुरूद्वारे तथा स्थानीय समाज सेवी संगठनों के माध्यम से की जा रही है। ऐसी संस्थाओं से आवासहीनों के लिए भोजन की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई जा रही है। मैंने सभी जिला कलेक्टरो को निर्देश दिया है कि वे कलेक्टोरेट में इस काम के लिए एक विशेष शाखा स्थापित करें कि वो 24 इन-टू 7 के आधार तैयार रहें और इस काम के लिए समुचित वाहन व्यवस्था करें। राज्य शासन द्वारा हर जरूरतमंद की मदद के लिए सारे इंतजाम किए जा रहे है। साथ ही आम जनता तथा विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे संगठनों से अपील की गई है कि मुख्यमंत्री सहायता कोष में मुक्त हस्त दान करके अपना योगदान तथा भागीदारी दर्ज कराएं।
मैं एक बार फिर आप सबसे अपील करता हूॅ कि 1 मीटर की दूरी और हाथ की सफाई जैसे सुरक्षा के सभी उपाय पूरे मन से अपनाए। राज्य सरकार ने जाॅच और उपचार के लिए सार व्यवस्थायें की है। हम सब मिलकर कोरोना से लड़ेंगे और जीतेंगे। ऐसा मेरा पूरा विश्वास है।
’कोरोना ले लड़बो अउ जीतबो’।
जय हिन्द, जय छत्तीसगढ़

ज़रूरत मंदों परिवारों को एक माह का राशन मुफ़्त -: चावल, शक्कर और नमक पी डी एस दुकानों से,
१. दाल ५ किलो
२. आलू ५ किलो
३. प्याज़ २ किलो
४. तेल २ लीटर
५. आधा किलो चाय पत्ती
६. हल्दी २०० ग्राम
७. मिर्च २०० ग्राम
८. नहाने का साबुन ४ नग
९. वाशिंग पाउडर १ किलो
१०. २ किलो पोहा