अनिश्चितकालीन हड़ताल के दूसरे दिन डीए और एचआरए की मांग को लेकर मा. मुख्यमंत्री एवं विभिन्न सचिवों के नाम एसडीएम पखांजूर को नाराज शिक्षकों का ज्ञापन

OFFICE DESK :- बरसते पानी में कोयलीबेड़ा के छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन, नवीन शिक्षक संघ, तथा शालेय शिक्षक संघ का समान भूमिका निष्पक्ष बैनर तले सँयुक्त प्रदर्शन

पखांजुर-अनिश्चितकालीन हड़ताल के दूसरे दिन भी बरसते पानी के बीच विकासखंड कोयलीबेड़ा के शिक्षक कर्मचारी सड़क पर उतरने के लिए मजबूर है।

कोयलीबेड़ा के छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन, शालेय शिक्षक संघ एवं नवीन शिक्षक संघ के शिक्षक एवं कर्मचारी साथी आज शांतिपूर्ण रैली निकालकर 34% महंगाई एवं सातवें वेतनमान के अनुसार गृह भाड़ा भत्ता की मांग को लेकर माननीय मुख्यमंत्री, श्रीमान मुख्य सचिव, श्रीमान सचिव वित्त विभाग एवं श्रीमान सचिव सामान्य प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ शासन के नाम अपनी मांग पत्र का ज्ञापन श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) पखांजूर को सौपे है।

इसके पश्चात पखांजूर पुराना बाजार बस स्टैंड के समक्ष निर्मित पंडाल में आकर उपरोक्त संगठनों के शिक्षकों ने विभिन्न नारो, गीत ,कविता एवं भाषण के माध्यम से अपनी आवाज छत्तीसगढ़ सरकार को पहुंचाए हैं।

छत्तीसगढ़ प्रदेश में अधिकारी एवं कर्मचारियों को केंद्र सरकार के द्वारा देय महंगाई भत्ते व सातवें वेतनमान के अनुसार गृह भत्ता की मांग लंबित है।

इसी मांग को लेकर पूरे प्रदेश में शिक्षक एवं कर्मचारी -अधिकारी दिनांक 25/7 /2022 से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। समान भूमिका निष्पक्ष बैनर तले आंदोलनरत शिक्षक संगठनों के पदाधिकारी ने बताया

कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 34% महंगाई भत्ता के स्थान पर अभी भी राज्य के कर्मचारियों अधिकारी एवं शिक्षकों को केवल 22% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है

तथा पेंशनरों को केवल 17% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है जबकि केंद्र सरकार व अन्य राज्य सरकारों द्वारा कर्मचारियों, अधिकारियों, शिक्षकों एवं पेंशनरों को 34% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है

छत्तीसगढ़ राज्य के कर्मचारियों को 12% का महंगाई भत्ता कम प्राप्त हो रहा है तथा गृह भाड़ा भत्ता को अब तक सातवें वेतनमान के अनुसार पुनरीक्षित नहीं किया गया है

जिससे छत्तीसगढ़ राज्य के अधिकारियों कर्मचारियों एवं शिक्षकों एवं पेंशनरों को प्रतिमाह 4000 से 14000 रुपए तक आर्थिक नुकसान हो रहा है।

माननीय मुख्यमंत्री महोदय के नाम प्रेषित मांग पत्र में सभी शिक्षक संगठनों ने मांग की है की देय तिथि से लंबाई महंगाई भत्ता व देय तिथि से सातवें वेतनमान के आधार पर गृह भाड़ा भत्ता की समस्त कर्मचारियों को लाभ दिया जाए

अन्यथा यह आंदोलन अनिश्चित काल तक मांग पूरा होते तक जारी रहेगा एवं आने वाले दिनों में आंदोलन को उग्र रुप प्रदान की जाएगी जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी सरकार की होगी।

आज की रैली एवं ज्ञापन सौंपने के कार्यक्रम में शिक्षक संगठनों के प्रांतीय, जिला विकासखंड, संकुल स्तरीय पदाधिकारी एवं सैकड़ों शिक्षक कर्मचारी साथी उपस्थित रहे जबकि उपरोक्त संगठनों के बहुत से साथी सुदूर कोयलीबेड़ा मुख्यालय के तहसील कार्यालय के समक्ष आंदोलन में डटे हुए हैं।

आज के कार्यक्रम में संतोष जायसवाल, प्रकाश चौधरी ,राम मनोरथ राय, भोला प्रसाद ठाकुर ,श्यामलाल दुग्गा, विवेक राय ,असीम विश्वास, गोपाल विश्वास, संगीता बागची, रंजीत कर महादेव उसेंडी,गणेश दास गोविंद बघेल, राम कुमार जांगड़े, गौतम मंडल, श्रीमती बलविंदर कौर, होरी लाल साहू ,तुमेश्वर विश्वकर्मा, दिनेश पटेल, अरुण रावते, मुकेश ध्रुव, वरुण कीर्तनीय ,रूद्र नारायण शर्मा, कृष्ण पाल राणा, दशरथ उइके,दलसिंह आँचला, राकेश शुक्ला, गगन साहू ,दिनेश्वर बघेल, राकेश महंत, जयंत शांडिल्य ,परिमल राय मुकेश मंडावी, मधु कला ठाकुर, साधना शोरी, सरिता सूर्यवंशी, घासीराम निषाद, मलखानसिंह भालेश्वर ,शकीला नेताम, अहिल्या जैन ,रसीला भंडारी, गिरजा नेताम, राजेंद्र रावटे, पति राम कुमेटी, सविता पोद्दार, पूर्णिमा अधिकारी, चुनिंदा विश्वास, आरती सेन, पिंकी ठाकुर, माधुरी ठाकुर, पिंकी कर्मकार, अंजलि डे, सरोज विश्वास, मनोज शांडिल, शिवसागर द्विवेदी, श्यामल देवनाथ, जगबंधु मंडल, उत्तम मंडल, स्वपन पोद्दार, दीपंकर चौधरी, प्रणव कीर्तनया गणेश ढाली, गोविंद बघेल, कृष्णा महाल्दार ,मनीष मिस्त्री, झुमुर विश्वास ,रेखा विश्वास, जगदीश चक्रवर्ती, केशव मिस्त्री, मंगलू राम ध्रुव, लता बघेल, माला कर, डोमेन, उषा डोरे, पद्मिनी खुड़श्याम, , प्रतिमा खलखो, आरचित व्रत राय, गुरूदास बैनर्जी, गोपालसरकार ,फागूवा राम भुआर्य, शिशिर सरकार ,रूपा मरकाम, श्यामलाल खरे, केशव लाल यदु, सहदेई नाग, अरुण कुमार सिन्हा, भूपेंद्र उइके, जैन सिंह चंद्रवंशी ,किरण कश्यप, ईश्वरी साहू, ममता दुग्गा, रामेश्वर ध्रुव, लखन प्रसाद दुबे, रवि राणा, जोहिरलाल घूमरा, कन्हैयालाल कचलाम, सत्य प्रकाश भार्गव, लेख राम चतुर्वेदी, श्वेता भोसले, रितिका कावड़े, छोटे लाल देवांगन, हेमांगिनी हालदार सहित सैकड़ों शिक्षक शिक्षिका कर्मचारी एवं मीडिया प्रभारी कृष्णेन्दु आईच उपस्थित थे।