रायपुर। अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस पर छत्तीसगढ़ ओलम्पिक एसोसिएशन द्वारा  होटल ग्रैंड इम्पीरिया में एक दिवसीय कार्यशाला रखी गई । इसका  उद्घाटन दुर्ग विश्वविद्यालय की कुलपति  डॉ अरूणा पलटा, छत्तीसगढ़ ओलम्पिक संघ महासचिव गुरुचरण सिंह होरा, पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के डीन डॉ राजीव चौधरी और एमपीटी स्पोर्टस डॉ प्रशांत चतुर्वेदी ने दीप प्रज्ज्वलन के साथ की।

कार्यशाला का विषय  विश्व शांति और एकता में स्वास्थ्य का महत्व रखा गया था। इस  पर अपने विचार रखते हुए  कुलपति डॉ अरुणा पल्टा ने बताया की  मोबाइल युग में लोगों की दिनचर्या किस तरह हो गई है। इसके साथ ही डॉ पलटा ने योग का महत्व बताते हुए लोगो को अपनी  सेहत के प्रति जागरूक रहने की अपील की।

इस दौरान कुलपति पलटा ने शरीर मे बढ़ते टॉक्सिन के बारे में लोगों को जागरूक करते हुए बताया की समय पर सोने से शरीर के सभी अंगों को टॉक्सिन रिलीज करने का समय ज्यादा मिलता है। सुबह जल्दी उठ कर योग करना चाहिए। प्लास्टिक और बोतल बंद पानी से होने वाले नुकसान पर उन्होंने  सभी का  ध्यान आकर्षित कराया। साथ ही इस आयोजन के लिए उन्होंने छत्तीसगढ़ ओलम्पिक संघ के महासचिव गुरूचरण सिंह होरा का आभार भी जताया।

इस मौके पर सभी अतिथियों की मौजूदगी में केक काटकर इस विशेष दिन को सेलिब्रेट किया गया।  इस दौरान CGOA महासचिव होरा और कार्यशाला में उपस्थित सभी वक्ताओं ने खिलाड़ियों को लम्बे समय तक फिट रहने के गुर बताए। होरा ने बताया की मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के मार्गदर्शन में यह आयोजन किया गया।  इस आयोजन के जरिए खिलाड़ियों को मानसिक शारीरिक रूप से अपने आप को खेल के लिए कैसे तैयार करें इसकी भी जानकारी दी गई।

विनोद राठी हुए सम्मानित : 16 जुलाई को चेस ओलपियार्ड मशाल का होगा स्वागत

ओलम्पिक संघ महासचिव होरा ने छत्तीसगढ़ प्रदेश शतरंज एसोसिएशन महासचिव विनोद राठी को  स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर विनोद राठी ने श्री होरा को खेलों का मसीहा बताते हुए कहा कि जब से वे महासचिव बने है तब से प्रदेश में खेलों का सर्वांगीण विकास हो रहा है चेस ओलपियार्ड के लिए निकली मशाल महासचिव होरा के नेतृत्व में 16 जुलाई को रायपुर के इंडोर स्टेडियम पहुंचेगी जहां खेल प्रेमी इसका भव्य स्वागत करेंगे।