डोंगरगढ़। कोरबा के कटघोरा में तबलीगी जमातियों के लगातार कोविड-19 पाॅजिटिव मिलने के बाद राजनांदगांव कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने सख्त रवैया अपनाया। उन्होंने सीधे तौर पर निर्देश जारी कर दिया था कि तबलीगी जमात में शामिल होने वाले जो लोग भी जानकारी छिपाने की कोशिश में लगे हैं और जो लोग छिप रहे हैं, या छिपने में सहयोग कर रहे हैं, उनके खिलाफ सीधे हत्या व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाएगा। इस सख्ती का असर अब दिखने लगा है। तबलीगी जमात में शामिल हुए लोगों ने अपने संबंध में जानकारी प्रशासन को मुहैया कराई है। जानकारी मिलने के बाद प्रशासन इन सभी लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री खंगाल रहा है। प्रशासन को मिली जानकारी के अनुसार डोंगरगढ़ में तबलीगी जमात में शामिल हुए 18 और पूरे जिले में 92 परिवार हैं। इन परिवारों में सदस्यों की कुल संख्या 369 है।

बता दें कि कोरबा जिले के कटघोरा में सबसे पहले एक नाबालिग को कोरोना पाॅजिटिव पाया गया। इसके ठीक चार दिन बाद एक बुजुर्ग को रात में कोरोना पाॅजिटिव पाया गया, तो दोपहर तक यह संख्या बढ़कर 9 पहुंच गई। अभी इस मामले को चार दिन हुए थे कि सात नए कोरोना पाॅजिटिव की पहचान की गई है, जो जमात में शामिल हुए उस नाबालिग के संपर्क में आए थे। बहरहाल नाबालिग युवक स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच गया है, पर उसके संपर्क में आने की वजह से 15 लोग अस्पताल पहुंच चुके हैं। लिहाजा इस वक्त तबलीगी जमात में शामिल हुए प्रत्येक व्यक्ति को बाहर लाना, उनकी जांच करना और उन्हें पूरी तरह से आईसोलेट करने पर शासन प्रशासन ज्यादा ध्यान दे रहा है।