फेक न्यूज के लपेटे में जावेद अख्तर, लुलु मॉल केस में गिरफ्तार हुए मुसलमान, शेयर किया सरोज, कृष्ण, गौरव का नाम

लखनऊ का सबसे बड़ा मॉल लुलु उद्घाटन के बाद से ही विवादों में घिरा है। इस विवाद के लपेटे में बॉलीवुड के गीतकार जावेद अख्तर भी आ गए हैं। उन्होंने लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की फेक प्रेस रिलीज अपने ट्विटर से शेयर कर दी है। नमाज पढ़ने पर पुलिस ने चार मुसलमानों को गिरफ्तार किया और उसकी रिलीज जारी की थी। जावेद अख्तर ने जो रिलीज शेयर की है उसमें चार में तीन नाम सरोज, कृष्ण और गौरव हिंदू हैं।  इसे लेकर जावेद अख्तर की फजीहत हो रही है।

जावेद अख्तर के हैंडल से फेक रिलीज को देखकर लोग भड़के हुए हैं। एक यूजर प्रभात उपाध्याय ने लिखा कि जावेद अख्तर जी आरोपियों के सही नाम इस प्रकार हैं। मोहम्मद रेहान, आतिफ खान, मोहम्‍मद लोकमान और मोहम्‍मद नोमान। लगता है आफ फैक्ट चेक नहीं देख पाए। जावेद अख्तर को टैग करते हुए पुलिस की असली प्रेस रिलीज भी तस्वीर के साथ भेजी है।

लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले चारों युवक गिरफ्तार

एम श्रीवास्तव नाम के यूजर ने लिखा कि ‘कृपया उन्हें सही जानकारी दी जाए। भ्रामक खबर फैलाई जा रही हैं।’ जितेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘यह नमाज के लिए नहीं बल्कि लुलु मॉल में हनुमान चालीसा की घटना के लिए गिरफ्तार किये गये थे।’ अंकित नाम के यूजर ने लिखा कि ‘उदयपुर कांड पर तो इनके मुंह में दही जम गया था, गलत को गलत बोलना सीखो ताकि लोग नफरत करना बंद करें।’