रायपुर। सीएसपीडीसीएल का सरकारी विभागों, सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों और निजी क्षेत्र के औद्योगिक उपभोक्ताओं पर 771 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि बकाया है. इतनी बड़ी रकम के एवज में वसूली महज 29 करोड़ रुपये की ही की गई है. यह आंकड़ा पिछले साल 31 दिसंबर तक का है और यह राशि उन उद्योगों और विभागों की है जिनका बकाया 1 लाख रुपये से ज्यादा का है.

दरअसल भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने सीएम भूपेश बघेल से सवाल किया था कि 31-12-2019 की स्थिति में छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी का कितने शासकीय विभाग/सार्वजनिक क्षेत्र तथा निजी क्षेत्र के उद्योगों पर 1 लाख रुपये से अधिक का बिजली बिल बकाया है तथा बकाया होने के कारण क्या है ? उन्होंने सवाल किया कि अवधि के पश्चात् बकाया राशि की वसूला के लिये क्या-क्या कार्यवाही की गयी? एवं कितनी राशि की वसूली की गयी एवं शेष राशि की वसूली के लिये क्या कार्यवाही की जा रही है?

जिसके जवाब में सीएम भूपेश बघेल ने लिखित जवाब में बताया कि इस अवधि में छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी का राज्य शासन के 40 शासकीय विभाग एवं 04 सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों पर राशि रुपये 478.77 करोड तथा निजी क्षेत्र के 535 औद्योगिक उपभोक्ताओं पर राशि रुपये 292.40 करोड़ बकाया है. शासकीय विभाग, सार्वजनिक क्षेत्र एवं निजी क्षेत्र के उपभोक्ताओं द्वारा विद्युत देयक का भुगतान नहीं करने एवं निजी क्षेत्र के 17 उपभोक्ताओं के प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन होने के कारण राशि बकाया है.

उन्होंने बताया कि शासकीय विभाग/सार्वजनिक क्षेत्र के बकाया राशि वसूली हेतु समय-समय पर विभाग द्वारा आवश्यक पत्राचार किया गया है साथ ही मैदानी अधिकारियों द्वारा अपने क्षेत्र के उक्त कनेक्शनों पर बकाया राशि के भुगतान हेतु क्षेत्र के विभाग प्रमुखों से व्यक्तिगत संपर्क कर बकाया वसूली हेतु प्रयास किया गया है. निजी क्षेत्र के औद्योगिक उपभोक्ताओं की वसूली हेतु विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही यथा अस्थायी विच्छेदन, स्थायी विच्छेदन तथा छत्तीसगढ़ गवर्मेंट इलेक्ट्रिकल अंडरटेकिंग (ड्यूज रिकव्हरी) एक्ट 1961 के प्रावधानों के अंतर्गत कार्यवाही प्रक्रियाधीन है. शासकीय विभाग/सार्वजनिक क्षेत्र के बकाया राशि के विरूद्ध प्रश्नाधीन अवधि में रुपये 4.80 करोड़ की वसूली की गई है तथा निजी क्षेत्र के उपभोक्ताओं से बकाया राशि के विरूद्ध रुपये 24.05 करोड़ की वसूली की गई है, शेष बकाया राशि की वसूली हेतु छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी लिमिटेड के द्वारा नियमानुसर कार्यवाही की जा रही है.