जशपुरनगर । विवाह समारोह में शामिल होने के लिए आई किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म का मामला उजागर हुआ है। घटना के आठ दिन के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज करते हुए एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पीड़िता को इंसाफ दिलाने के नाम पर गांव में पंचायत का आयोजन कर मामले को रफादफा करने की कोशिश का आरोप लगाया जा रहा है। ग्रामीणों के इस आरोप की अब तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे खबरों में बताया जा रहा है कि घटना के बाद गंभीर रूप से घायल हुई पीड़िता का इलाज परिजन घर में ही रख कर जड़ी बूटी के सहारे कराते रहे। जानकारी के अनुसार यह घटना जिले के पंडरापाठ चैकी क्षेत्र की है। चैकी क्षेत्र के एक गांव में 12 मार्च को एक शादी का आयोजन किया गया था। शादी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पीड़िता अपने परिवार सहित आई हुई थी। रात को कार्यक्रम के दौरान मोैका देख कर आरोपितों ने किशोरी का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म किया।

इसके बाद आरोपितों ने किशोरी को विवाह स्थल से कुछ दूर जंगल में छोड़ कर फरार हो गए। पीड़िता की शिकायत पर पंड्रापाठ चैकी में छह आरोपितों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपित को गिरफ्तार भी किया गया है। इसमें मामले में आईजी रतनलाल डांगी ने एफआईआर दर्ज किए जाने और एक आरोपित की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।