भानुप्रतापपुर। कहा जाता है कि बच्चे नासमझ और मासूम होते हैं ,और वो नासमझी में कुछ ऐसा कर भी गुजरते है जो खुद उनके लिए भी परेशानी का सबब बन जाता है ,छोटी से डांट भी वह दिल पर ले लेते हैं और घर से भागने जैसा कठोर कदम उठा लेते हैं। उन्हें जरा सा भी फिक्र नहीं होता है कि उनके चले जाने से घर वालों पर क्या गुजरेगी ?
ऐसा ही मामला भानुप्रतापपुर से आया जब अपनी मां की डांट से नाराज होकर एक मासूम बच्चा घर से स्कूल के लिए निकला और ट्रेन में बैठकर भाग गया।जीआरपी की सक्रियता ने उसे सकुशल बरामद कर घर भेजवाने की तैयारी कर ली है।
जानकारी के मुताबिक बच्चे का नाम आयुष शर्मा है और दुर्ग जिले का रहने वाला है। जामुल सरस्वती शिशु मंदिर में कक्षा तीसरी में पढ़ाई करता है। ट्रेन में यात्रियों ने उससे सवाल-जवाब किया, तो उसने बताया कि उसकी मां ने फटकार लगाई थी, इसलिए वह घर से भाग गया। यात्रियों ने इसकी जानकारी टीटी को दी। बच्चे ने स्कूल यूनिफार्म पहन रखी थी।
टीटी के जरिए पूरी जानकारी दुर्ग एसपी को दी गई।जिसके बाद बच्चे को टीटी खोब्रागडे के साथ वापस दुर्ग भेजा जा रहा है। दुर्ग में पहले जीआरपी को सौंपेंगे।जहां से परिजनों को सौंप दिया जाएगा।