बागी विधायकों को जान का खतरा, पत्र लिखकर मुंबई पुलिस से मांगी सहायता

कर्नाटक में  राजनीतिक उठा-पटक के बीच सोमवार को बैठक हुई जिसके  बाद कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने जानकारी दी कि कर्नाटक विधानसभा में गुरुवार को फ्लोर टेस्ट किया जाएगा| वहीं कर्नाटक के पांच और बागी विधायकों की अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत हो गई है|

मुख्यमंत्री विश्वास ने विधायकों को मनाने की कोशिश की| 

इनकी सुनवाई भी इस्तीफों को स्वीकार करने की मांग कर रहे 10 अन्य विधायकों की अर्जी के साथ ही होगी|मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी विश्वास मत से पहले इस्तीफा देने वाले कुछ विधायकों को मनाने की कोशिश की |  वहीं बीजेपी की ओर से सोमवार को विधानसभा में बहुमत साबित करने या इस्तीफा देने की मांग की गई|

उधर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने 10 असंतुष्ट विधायकों की याचिकाएं लेकर स्पीकर केआर रमेश को 16 जुलाई तक अपने इस्तीफे और अयोग्यता पर यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा है|

बता दें, कर्नाटक के बागी विधायकों ने रविवार को एक बार फिर मुंबई पुलिस को पत्र लिखकर जान के खतरे की आशंका जताते हुए सुरक्षा की मांग की है| इस पत्र में उन्‍होंने किसी भी कांग्रेसी नेता से मिलने से इनकार किया है|

कर्नाटक में कांग्रेस के बागी विधायक एम टी बी नागराज को मनाने की कोशिशें असफल रहने के बाद वह रविवार को मुंबई चले गए जहां उन्होंने स्पष्ट किया कि त्यागपत्र वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता है|

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *