अंबिकापुर: छत्तीसगढ़ के वनांचल में व्याप्त नक्सलवाद की समस्या सरकार के लिए नासूर साबित हो रही है। हालांकि नक्सलवाद के खिलाफ सरकार की जंग लगातार जारी है। इसी बीच अनुसूचित जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंद कुमार साय ने नक्सलवाद की समस्या को लेकर शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए बड़ा बयान दिया है। नंद कुमार साय ने कहा है कि नक्सवाद को खत्म करने के लिए प्रताड़ित लोगों की समस्या जानना जरूरी है। नक्सलवाद को खत्म करने पुलिस की भी जरूरत नहीं है।

इस दौरान नंद कुमार साय ने सीएए को लेकर कहा है कि सीएए को लेकर आदिवासियों को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। सीएए से आदिवासियों को कोई नुकसान नहीं होगा। उन्होंने इस दौरान पत्थलगड़ी मामले को लेकर कहा कि पत्थलगड़ी को गलत तरीके से पेश किया गया है। पत्थलगड़ी को लेकर आदिवासियों की अलग अलग मान्यता है।

बता दें कि इससे पहले धमतरी जिले के प्रभारी मंत्री और आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने मीडिया से बात करते हुए नक्सल समस्या पर बड़ बयान दिया था। कवासी लखमा ने कहा था कि हमारे पास कोई जादू की छड़ी तो नहीं जो नक्सली समस्या को खत्म कर दें। समस्या से धीरे-धीरे खत्म होगी।