राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में लॉकडाउन के बीच नक्सलियों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि मुखबिरी का आरोप लगाते हुए एक ग्रामीण की नक्सलियों ने हत्या कर दी है। हत्या के बाद खुद ग्रामीण के घर आकर नक्सलियों ने हत्या करने की खबर दी। सूचना मिलते ही घरवालों के होश उड़ गए। फौरन ग्रामीण के परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। एडिशनल एसपी जीएन बघेल ने नक्सलियों द्वारा हत्या करने की पुष्टी की है। पूरा मामला औंधी थाना क्षेत्र का है।

खेत में काम करने गया था ग्रामीण

मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों ने ग्राम पटेल की तेजधार हथियार से हत्या की गई है। बताया जा रहा है कि डोडके का रहने वाला कोतलू राम सलामे रविवार रात अपने घर से खेत की रखवाली के लिए निकला था। खेत में बने एक झोपड़ी में सो रहा था। देर रात कुछ नक्सली वहां पहुंचे और निर्मम तरीके से उसकी हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद नक्सली खुद ग्रामीण के घर पहुंचे और हत्या की बात कही। घबराए परिजनों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। कहा जा रहा है कि नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर का आरोप लगाते हुए ग्रामीण की हत्या की है।

बेटे की भी हो चुकी है हत्या

बता दें कि साल 2017 में कोतलू राम के बेटे की भी नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर का आरोप लगाते हुए युवक की हत्या की थी। दो साल बाद नक्सलियों ने पिता को भी मौत के घाट उतार दिया है। घटना की जानकारी मिलते ही पूरे गांव में मातम फैल गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच करने की बात कर रही है।