रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में एक लाख करोड़ रुपए के विनियोग और बजट डिमांड को पारित कर दिया। कोरोना संकट के चलते विनियोग और विभागों के बजट डिमांड पर चर्चा नहीं करने का फैसला ​कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में ही ले लिया गया था। आज कार्यमंत्रण समिति की बैठक में विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, नेता प्रतिपक्ष और संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चैबे समेत अन्य सदस्य शामिल हुए।

इस बैठक में बिना चर्चा के बजट पास करने का निर्णय लिया गया। यह पहला अवसर है जब छत्तीसगढ़ में बिना चर्चा के बजट पास किया गया। आज कोरोना के कारण प्रश्नकाल भी नहीं हुआ। कार्यमंत्रणा समिति की बैठक की बाद विधानसभा की कार्रवाई चालू हुई। सबसे पहले सुकमा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद संसदीय कार्यमंत्री रविंद्र चैबे ने गिलोटिन के जरिये बजट पास करने का प्रस्ताव रखा और सदन ने इसे पास कर दिया। कोरोना के कारण आज पत्रकारों को हाउस के भीतर जाने की अनुमति नहीं दी गई। इसी तरह विधानसभा के आधे से भी कम अधिकारियों और कर्मचारियों को बुलाया गया है।