Patra Chawl Scam : शिकंजे में संजय राउत, 16 घंटे पूछताछ के बाद ईडी ने किया गिरफ्तार

शिवसेना के प्रवक्ता और सांसद संजय राउत को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार को पात्रा चॉल भूमि घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया। राउत से पहले उनके घर पर करीब नौ घंटे, फिर दक्षिण मुंबई स्थित ईडी दफ्तर में सात घंटे चली पूछताछ के बाद रात 12ः05 बजे धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार किया गया।

Read more : Sanjay raut: पात्रा चॉल मामले में संजय राउत के घर पहुंची ED, हिरासत में लेकर कर सकती है पूछताछ

ईडी की अन्य टीमों ने इस बीच दादर व गोरेगांव में भी सर्च ऑपरेशन चलाया। शाम को टीम दस्तावेज के साथ संजय को लेकर घर से निकली। ईडी ने उन्हें 20 और 27 जुलाई को तलब किया था, लेकिन संसद सत्र का हवाला देकर वह पेश नहीं हुए। ईडी के साथ जाने से पहले संजय ने मीडिया से कहा, उन्हें फंसाया जा रहा है। 1040 करोड़ के चॉल घोटाले में राउत से 28 जून को पूछताछ हुई थी।

राउत बोले, झूठे सबूत बनाए जा रहे हैं 

वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मेरे खिलाफ झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत लोगों को मार-पीटकर बनाए जा रहे हैं। ये सिर्फ महाराष्ट्र और शिवसेना को कमजोर करने के लिए है लेकिन महाराष्ट्र और शिवसेना कमजोर नहीं होगी।

एक ऑडियो क्लिप वायरल ( viral) 

संजय राउत के खिलाफ मुंबई के वकोला पुलिस थाने में भादंवि की धारा 504, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया। दरअसल, स्वप्ना का एक ऑडियो क्लिप वायरल हुआ था, जिसमें राउत को कथित तौर पर उन्हें धमकी देते सुना गया था