भारतीय जनता पार्टी के 40वें स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने सभी से कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जारी युद्ध में अपना योगदान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लंबी है, इसलिए ना थकना है और ना ही हारना है सिर्फ जीतना है। पीएम ने इस दौरान कार्यकर्ताओं के सामने कुछ संकल्प भी रखे और उन्हें पूरा करने का निवेदन किया।

भारत सरकार ने लिए कई फैसले
कार्यकर्ताओं से पीएम मोदी बोले कि भारत सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर कई फैसले लिए और उन फैसलों को जमीन पर उतारा गया। कोरोना वायरस बीमारी का असर हर किसी पर होता है, इसके बारे में किसी को कुछ नहीं पता था। हमारी सरकार ने एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग, कई देशों से आने वाले लोगों पर रोक लगाना हो, मेडिकल की सुविधाओं को मजबूत करना हो भारत सरकार ने कई फैसले लिए।

कोरोना संकट पर पीएम मोदी ने कहा कि दीयों के महाप्रकाश ने देश को लंबी लड़ाई के लिए तैयार किया, ना थकना है और ना ही हारना है, विजयी होकर निकलना है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को सिखाया गया है कि दल से बड़ा देश है और देश 130 करोड़ लोगों का है।

कार्यकर्ताओं से पीएम मोदी की अपील-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए कुछ सुझाव भी दिए और कहा कि कार्यकर्ताओं को इनपर जोर देना चाहिए ।

  • गरीबों को राशन के लिए लगातार सेवा अभियान.
  • किसी की मदद के लिए जाते समय फेस कवर जरूर पहनें. इसे आदत बना लें. अपने साथ-साथ अन्यों के लिए भी मास्क और कवर बनाएं.
  • डॉक्टर-पुलिस-नर्स-बैंक-सरकारी मुलाजिमों का आभार व्यक्त करें, सभी को धन्यवाद ज्ञापन दें.
  • आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करें और लोगों को भी डाउनलोड करवाएं. कम से कम 40 लोगों के मोबाइल में ऐप डाउनलोड करवाएं.
  • लाखों लोग पीएम केयर्स फंड में दान कर रहे हैं, हर बीजेपी कार्यकर्ता इसमें दान करें और 40 अन्य लोगों से भी ऐसा करवाएं.
  • हर कार्यकर्ता सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे और लोगों से भी ऐसा करने को कहें.

भारत के फैसलों की दुनिया में चर्चा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के कदमों की तारीफ डब्लूएचओ ने भी की है, इसके अलावा दुनिया के कई मंचों पर कोरोना के मसले पर भारत ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कई देशों के प्रमुखों से हमारी बात हुई है, हमारा देश विकासशील देश है जो गरीबी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है, लेकिन इस संकट के बीच हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास कर रहे हैं।