प्रदेश में भूपेश रमन के बीच वार-पलटवार दर्शाता है भाजपा और कांग्रेस सरकार में रहने का नैतिक अधिकार खो चुकी है – कोमल हुपेंडी, प्रदेश अध्यक्ष, आप

रायपुर। आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि सच सामने आ ही जाता है. छत्तीसगढ़ में चिटफंड और नान घोटाले को लेकर  पूर्व भाजपा मुख्यमंत्री और भूपेश बघेल में  घमासान मचा हुआ है.

इसी बीच  पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दो अलग-अलग  ट्वीट कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधा है.रमन सिंह ने ट्वीट कर कहा कि भूपेश !! छत्तीसगढ़ को पौने चार साल में आपकी निकम्मी सरकार की अक्षमता का पता चल ही गया है

तभी वो चिटफंड की जांच अब तक नहीं कर पाई है। आप ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर ईडी से जांच की बात कल विधानसभा में की है तो इस जांच के लिए मेरा भी पूर्ण समर्थन है.

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि एक तरफ आप सोनिया जी की ईडी से पूछताछ के खिलाफ ईडी ऑफिस में धरना देते हैं. दूसरी तरफ चिटफंड मामले में ईडी पर भरोसा करते हैं

यह दोहरी राजनीति मत कीजिए. क्योंकि दूसरों पर कीचड़ फेककर अपना चेहरा चमकाने वालो का घीनौना चरित्र सामने आ गया है। इधर भूपेश बघेल ने जवाब दिया है,

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि रमन सिंह गृह मंत्री और प्रधानमंत्री से मुलाकात कर उनसे ईडी जांच की मांग करें रमन सिंहके खिलाफ प्रमाण है

नान घोटाले में जांच हो रही थी तो उन्हीं के नेता प्रतिपक्ष ने जाकर हाईकोर्ट में रोक लगवाया. नान मोटाले में ईडी जाँच कर रही है. ईडी कब बताएगी सीएम साहब सीएम मैडम कौन हैं।

साढ़े 6 हजार करोड़ रुपया गरीब जनता का डकारा गया है। कोर्ट के आदेश पर उनके बेटे के खिलाफएफआईआर हुआ है, उसकी जांच करवाएं आदि।

रमन सिंह के ट्विट पर मुख्यमंत्री  ने फिर सवाल किया- नान घोटाले में जाँच कर रही है न ईडी, उसमें सीएम सर और सीएम मैडम कौन कब बताएगी ईडी मुख्यमंत्री बघेल ने सवाल किया है कि नान घोटाले को लेकर जाँच ईडी कर रही है,

तो ईडी कब बताएगी कि उसमें सीएम सर और सीएम मैडम कौन हैं। मुख्यमंत्री बघेल का यह बयान डॉ रमन सिंह के उस ट्विट के बाद आया है

जिसमें कि उन्होंने ईडी से चिटफंड घोटाले की जाँच कराए जाने को पूर्ण समर्थन दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कल चुनौती भी दी थी

कि यदि उन पर आरोप साबित हुए तो डॉ रमन सार्वजनिक जीवन से संन्यास ले लेंगे। मुख्यमंत्री बमेल ने यह सवाल भी किया है कि जाँच होती है तो हाईकोर्ट से स्टे क्यों लेते हैं ?

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा  पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के ट्विट जिसमें कि उन्होंने चुनौती देते हुए लिखा कि प्रमाण मिला तो सार्वजनिक जीवन से सन्यास ले लूंगा

और ईडी से जाँच को पूर्ण समर्थन दिया के संदर्भ में कहा प्रमाण के लिए नानघोटाले में जाँच कर रहे थे, तो उनके ही  नेता प्रतिपक्ष ने हाईकोर्ट में स्टे ले लिया है

और रोक लगवाया है। मुख्यमंत्री बघेल ने सवाल किया नान घोटाले में ईडी कब बताएगी उसमें सीएम सर कौन हैं और सीएम मैडम कौन हैं?

आप नेता समीर खान  ने कहा इतना सब तो खुलासा हो चुका अब और क्या जनता के सामने आना बाकी है कोई नोट के नंबर के सबूत तो लाकर देगा नही और न ही जांच कभी खत्म होगी।

इस प्रकार ये दोनो ही पार्टियां प्रदेश में शासन में रहने का अपना नैतिक अधिकार खो चुकी है। भाजपा और कांग्रेस अब जनता के हित की बातें कर गुमराह करना बंद कर दे

तो ही अच्छा है क्योंकि जनता समझ गई है । आम आदमी पार्टी 2023 में भाजपा और कांग्रेस के इस भ्रष्ट शासन  से मुक्ति दिलाएगी और जनता इन दोनो पार्टियों को अब सिरे से नकारने का मन बना चुकी है।

दिल्ली बदलिस,पंजाब बदलीस अब बदलबो छत्तीसगढ़।