कवर्धा। प्रदेश में धान खरीदी की मियाद को समाप्त हुए दो दिन हो चुका है, लेकिन किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। सरकार की नीतियों के खिलाफ कवर्धा में किसानों ने मोर्चा खोल रखा है। खबर के मुताबिक कवर्धा जिले के किसानों ने रायपुर-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग को करीब 24 घंटे तक बाधित किया। जिले के बिरकोना चैक पर चारों तरफ धान से लदे ट्रेक्टर ट्रालियों से जहां रास्ता जाम किया, वहीं तम्बू लगाकर धरने पर बैठ गए। किसानों के विरोध और उनके गुस्से को देखते हुए जिला और पुलिस प्रशासन भी कुछ नहीं कर पाया।

किसानों से किए वायदे को सरकार पूरा नहीं कर पाई है। किसान धान लेकर खरीदी केंद्रों तक पहुंचते रहे, टोकन कटे और बटे भी लेकिन किसानों का धान नहीं खरीदा गया, जिसका गुस्सा किसानों में फूट पड़ा है। जिसके चलते विरोध में आए किसानों ने कवर्धा जिला मुख्यालय में जोरदार प्रदर्शन किया। जिले के बिरकोना चैक पर उन्होंने अपनी धान से लदी ट्रेक्टर ट्रालियों से जहां राष्ट्रीय राजमार्ग में आवागमन बंद कर दिया, वहीं रास्ते पर तम्बू गाड़कर धरना प्रदर्शन किया। किसानों का गुस्सा इतना ज्यादा था कि जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी कोई हरकत नहीं कर पाए। किसान इस जिद पर अड़ गए हैं कि जब तक सरकार उनका पूरा धान नहीं खरीदती है, तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा।

24 घंटे से जारी इस जाम के कारण इस रूट से आने जाने वाले ट्रकों और वाहनों की कई किलोमीटर तक लंबी कतारें बन गई हैं। बड़ी तादाद में वाहनों को जहां वापस लौटना पड़ा, वहीं काफी वाहनों को रास्ता ही बदलना पड़ गया। वहीं ट्रक चालक और परिचालकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ट्रक चालक और परिचालक अब जहां पर रुके हैं वहीं पर किसी भी तरह से भोजन बना कर अपना गुजारा कर रहे हैं। पुलिस और प्रशासन भी मूकदर्शक बने बैठी है और किसी भी प्रकार से अप्रिय घटना ना हो इस बात को लेकर वे लगातार चैकस है।