रायपुर। प्रदेश के नक्सल प्रभावित आठ जिलों में रोड कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट (आर.सी.पी.एल.डब्ल्यू.ई.) योजना के तहत सड़क और पुल निर्माण के लिए तीन चरणों में कुल 1635 करोड़ 96 लाख रूपए की मंजूरी दी गई है.

लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि राज्य के नक्सल प्रभावित आठ जिलों- कांकेर, कोण्डागांव, नारायणपुर, बस्तर, सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर और राजनांदगांव में बेहतर कनेक्टिविटी और सुदूर ग्रामीण अंचलों को जोड़ने के लिए राज्य सरकार की पहल पर ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पिछले महीने की 10 तारीख को 240 किलोमीटर लम्बाई की सड़क निर्माण के लिए 638 करोड़ रूपए की सहमति दी गई है. इसके अलावा इस योजना के तहत प्रथम और द्वितीय चरण को मिलाकर 97 कार्यो (72 सड़क और 25 पुल) कुल लम्बाई 1238 किलोमीटर के लिए 997 करोड़ 96 लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान की जा चुकी हैै। इन सड़कों के निर्माण में भारत सरकार का 60 प्रतिशत और राज्य सरकार का 40 प्रतिशत भागीदारी है.

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आर.सी.पी.एल.डब्ल्यू.ई. योजना के तहत 38 सड़कों तथा 19 पुलों का निर्माण प्रगति पर है. उन्होंने बताया कि सड़क निर्माण में डामर के साथ-साथ कुछ स्थानों पर प्रायोगिक तौर पर कोल्ड मिक्स टेक्नालॉजी, वेस्ट प्लास्टिक और स्टेबिलाईजेशन की तकनीक का भी प्रयोग किया जाएगा.