रायपुर। आमतौर पर वर्दी को लेकर लोगों के मन में संवेदना नहीं जागती, पर इस कठिन दौर में यही वर्दीधारी लोगों के लिए मसीहा बन गए हैं। राजधानी में एक बुजुर्ग की मौत पर पुलिस वालों ने ना केवल मानवधर्म निभाया, बल्कि रिश्ते-नातेदारों की कमी को पूरी शिद्दत के साथ पूरा किया। ऐसा ही एक मामला जगदलपुर में आया है। पीलिया प्रभावित रंधीर कुमार की किडनी फेल होने की वजह से उनकी मौत हो गई। लाॅक डाउन की वजह से रिश्ते-नातेदारों का पहुंचना कठिन था, साथ ही उन्हें उनके गृहग्राम बिहार के नालंदा भेज पाना भी आसान नहीं था, ऐसे में बस्तर पुलिस ने एक बार फिर मानवधर्म का परिचय कराया। वही रिश्तेदार बन गए और परिजन का भी दायित्व बखुबी निभाया। वीडियो काॅलिंग के जरिए परिवार वालों को अंतिम दर्शन कराने के बाद सीएसपी हेमसागर सिदार ने मृतक को मुखाग्नि दी और संपूर्ण संस्कार का निर्वहन भी किया।

बताया जा रहा है कि रंधीर कुमार पिछले ढाई सालों से सुकमा जिले में काम कर रही यूनिफेब इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड में सुपरवाइजर का काम करता था। उन्हें पहले से ही पीलिया और किडनी में प्रॉब्लम थी। जिसका ईलाज भी चल रहा था। लेकिन कल देर रात अचानक तबीयत बिगड़ने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई । फिलहाल बस्तर पुलिस नगर निगम के मदद से रणधीर कुमार का अंतिम संस्कार किया। पुलिस ने अपनी रोजमर्रा के दायित्व के साथ मानवधर्म की मिसाल पेश की है, जिसके लिए पूरा महकमा साधुवाद का हकदार है।