शिवराज चौहान की दत्तक पुत्री का निधन

नई दिल्ली । मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान की दत्तक पुत्री का गुरुवार को बीमारी के चलते निधन हो गया। पिछले साल ही 1 मई को शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह ने भारती की शादी कराई थी।

जानकारी के मुताबिक, बेटी की मौत की जानकारी लगते ही शिवराज सिंह की पत्नी साधना और पुत्र कार्तिकेय विदिशा पहुंचे, जहां मृत बेटी को देखकर उनके आंसू छलक उठे।

भारती यहां नगर पालिका में काम करती थी। मीडिया रिपोर्ट की माने तो गुरुवार दिन में उनकी तबीयत बिगड़ गई, जहां परिजनों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। हालांकि, सही समय पर इलाज ना मिलने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई। शाम के समय रंगई स्थित शमशान घाट पर भारती का अंतिम संस्कार किया गया। वहीं, पूर्व सीएम चौहान सदस्यता अभियान की समीक्षा बैठक में रायपुर गए हुए है, जिस कारण वो अंतिम दफा अपनी दत्तक पुत्री को देख नहीं पाए।

बता दें कि विदिशा के मुखर्जी नगर में शिवराज सिंह चौहान का सेवाश्रम है। जिधर दो दशकों से वह 7 बेटियों और दो बेटों का शिक्षा से लेकर खाने-पीने का ख्याल रखे हुए थे। पिछले साल सीएम रहते चौहान ने अपने आश्रम में रहने वाली भारती के अलावा रेखा लोधी और बेटे कमल लोधी का भी रंगई मंदिर पर विवाह कराया था।

पिछले साल बनी थी दुल्हन
एक मई 2019 को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री की दत्तक पुत्री भारती की शादी हुई थी। विदिशा के किसान परिवार के युवक रवींद्र मालवीय से एक स्थानीय मंदिर में शिवराज और साधना सिंह ने सभी रस्मों के साथ बेटी का कन्यादान किया था।

हालांकि, प्रारंभिक पीएम रिपोर्ट की बात करे तो मौत की वजह छाती में इन्फेक्शन होना बताया गया। वहीं पूर्व सीएम चौहान भी इस खबर से काफी आहत हैं, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दत्तक पुत्री की मौत की खबर मिलते ही उन्होंने फोन कर बेटी के ससुराल वालों से बात की।

छत्तीसगढ़ दौरे पर गए हुए पूर्व सीएम चौहान ने पहले तो फोन पर बात की, फिर अपने बैठकों को निरस्त कर विशेष विमान से विदिशा के लिए रवाना हो गए। खबर है कि चौहान सीधे यहां से रंगई गांव पहुंचेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *